अपनी बेटी को टीका लगवाने पर ब्राजील के राष्ट्रपति Jair Bolsonaro ने ये कहा

Covid-19 in Brazil: कोविड-19 के ओमिक्रोन वेरिएंट (Omicron Variant) को लेकर दुनियाभर में दहशत का माहौल कायम है. टीकाकरण और बूस्टर डोज पर खासा जोर दिया जा रहा है. इस बीच ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) का टीकाकरण विरोधी रूख अभी बरकरार है. राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो ने अपनी बेटी को टीका लगवाने से मना कर दिया है. उन्होंने कहा है कि वो अपनी 11 साल की बेटी को कोविड​​​​-19 के खिलाफ टीकाकरण नहीं कराएंगे. वैक्सीन विरोधी रूख को बनाए रखते हुए जायर बोल्सेनारो ने सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों की भी आलोचना की है.

बेटी को टीका नहीं लगवाएंगे ब्राजील के राष्ट्रपति

राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) ने कहा कि देश के स्वास्थ्य मंत्री मार्सेलो क्विरोगा (Marcelo Queiroga) 5 जनवरी को बताएंगे कि ब्राजील 5 से 11 साल के बच्चों के लिए कोरोनो वायरस टीकाकरण अभियान को किस तरह से अंजाम देगा. बच्चों के टीकाकरण अभियान को इस महीने की शुरुआत में मंजूरी दी गई थी. राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो ने दक्षिणी राज्य सांता कैटरीना में कहा कि बच्चे इस तरह से नहीं मर रहे हैं जो बच्चों के लिए एक टीके को सही ठहरा रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें उम्मीद है कि टीकाकरण को लेकर कोई न्यायिक हस्तक्षेप नहीं किया जाएगा. 

बच्चों के टीकाकरण पर ब्राजील का रवैया

ब्राजील में बच्चों का टीकाकरण काफी चर्चा का विषय रहा है. जहां बोल्सोनारो के मुख्य समर्थक टीकाकरण को लेकर विरोध जताते रहे हैं, वहीं देश की अधिकांश आबादी टीकों का समर्थन करती है. अक्टूबर में राष्ट्रीय स्वास्थ्य नियामक अन्विसा (Anvisa) ने कहा था कि उसके कर्मचारियों को इस मुद्दे को लेकर जान से मारने की धमकी मिली थी. जब अन्विसा (Anvisa) ने 5 से 11 साल के बच्चों के लिए शॉट्स को मंजूरी दी थी. बोल्सोनारो ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि वह उन अधिकारियों के नाम सार्वजनिक करना चाहते हैं जिन्होंने अनुमोदन पर हस्ताक्षर किए थे.

राष्ट्रपति बोल्सोनारो टीकाकरण पर उठाते रहे हैं सवाल

23 दिसंबर को स्वास्थ्य मंत्री क्विरोगा (Queiroga) ने यह कहकर और विवाद खड़ा कर दिया था कि बच्चों में कोविड​​​​-19 की मौतों की संख्या आपातकालीन प्राधिकरण को सही नहीं ठहराती है. बाद में उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए कोरोना वायरस के टीके के लिए डॉक्टर के पर्चे की जरूरत होगी, जिसका राज्य के स्वास्थ्य सचिवों ने तुरंत खंडन किया था. राष्ट्रपति बोल्सोनारो ने कहा कि उन्होंने क्विरोगा से बात की है. 5 तारीख को उन्हें एक नोट प्रकाशित करना चाहिए कि बच्चों को टीकाकरण कैसे किया जाना चाहिए. मुझे उम्मीद है कि कोई न्यायिक हस्तक्षेप नहीं होगा. एक सरकारी कोरोना वायरस सलाहकार निकाय ने एक नोट जारी किया जिसमें कहा गया कि ब्राजील में 5 से 11 वर्ष की आयु के 301 बच्चों की कोविड-19 से जान चली गई है. गौरतलब है कि राष्ट्रपति बोल्सोनारो ने खुद टीका लगवाने से इनकार कर दिया है और कई बार कोरोना वायरस टीकों की सुरक्षा और उसके प्रभाव को लेकर सवाल उठा चुके हैं.

 

Source link ABP Hindi