अपने फोन की सुरक्षा की चिंता हैं? स्मार्टफोन को सेफ रखने के ये हैं टिप्स

Mobile Security Tips: एक समय था जब आपका फोन कम्यूनिकेशन के लिए सिर्फ एक डिवाइस था, लेकिन समय के साथ आपका स्मार्टफोन जीवन का एक जरूरी एलिमेंट बन गया है. बिजनेस, शॉपिंग, कम्यूनिकेशन, बैंकिंग, पढ़ाई से लेकर एंटरटेनमेंट तक, स्मार्टफोन लगभग हर चीज में शामिल होता है. एक रिपोर्ट के मुताबिक औसतन फोन यूजर्स दिन में 50 से ज्यादा बार अपने डिवाइस चेक करते हैं. स्मार्टफोन के ज्यादा इस्तेमाल ने आपको हैकर्स का टारगेट बनाने के लिए ज्यादा आसान कर दिया है. यहां, हमने आपके स्मार्टफोन को किसी भी हैकर से सुरक्षित रखने के 5 तरीके बताए हैं.

Check Your Wireless
हम सभी वायरलेस नेटवर्क चाहते हैं, चाहे वह काम पर वाईफाई हो या घर पर, या मोबाइल हॉटस्पॉट. कोई भी डिवाइस जो डेटा को एयरवेव्स पर ले जा सकता है, एक संभावित सुरक्षा जोखिम है. पहला नियम यह है कि जब वायरलेस कनेक्शन उपयोग में न हो तो उसे हमेशा बंद कर दें. यह हैकर्स को आपकी जानकारी के बिना आपके डिवाइस से कनेक्ट होने से रोकता है. जब इस एक्सेस का उपयोग करने की बात आती है, तो वायरलेस हॉटस्पॉट और अज्ञात नेटवर्क सबसे अधिक जोखिम उठाते हैं.

Protect Your Calls
फिशिंग कॉल्स लेते समय आपका डिवाइस खतरे में पड़ सकता है, और आपको ऐसी कॉलें आती रही होंगी. समाधान? बर्नर और फायरवॉल दो ऐप हैं जो आपके फोन को हैकर्स, अनचाहे सेल्सपर्सन और कॉलर्स से सुरक्षित रखते हैं. बर्नर ताजा फोन नंबर जनरेट करके आपकी व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा करता है जिसका उपयोग आप जितनी देर चाहें कर सकते हैं. इस बीच, आईओएस यूजर्स अनचाही कॉल्स को सीधे वॉयसमेल पर भेजने के लिए फायरवॉल का उपयोग कर सकते हैं, यहां तक ​​कि उनकी घंटी भी सुने बिना.

Caution With Applications
Play Store से नया सॉफ्टवेयर डाउनलोड करते समय, आपको उन परमिशन्स पर ध्यान देना होगा जो यह सॉफ्टवेयर आपको इंस्टॉल होने पर देने के लिए कहता है. इसी तरह, आपको अपने ब्राउजर पर एक नई वेबसाइट पर जाने के दौरान उन अनुमतियों को देखना होगा जिनकी आप अनुमति दे रहे हैं.

Don’t Forget To Update Software Update
कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप सॉफ्टवेयर अपडेट को अपडेट करने या डाउनलोड करने को कितना भी अनदेखा कर दें, यह आपके डिवाइस को हमले के जोखिम से मुक्त रखने के सबसे सुरक्षित तरीकों में से एक है. इसके अलावा सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर आपको अपने फोन को रिस्क से दूर ऑपरेट करने में सक्षम बना सकता है. यदि इसमें जीपीएस है, तो खो जाने या चोरी हो जाने पर आपको डिवाइस की लोकेशन का पता चल सकता है. इसके साथ ही यह ज्यादा वायरस, स्पैम और फायरवॉल सिक्योरिटी देता है.

Use VPN
वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क, या वीपीएन, आपको सुरक्षित तरीके से इंटरनेट पर एक निजी नेटवर्क से कनेक्ट करने की अनुमति देते हैं. यह आपको सार्वजनिक या साझा नेटवर्क पर डेटा भेजने और प्राप्त करने की अनुमति देता है, इसके बिना अनधिकृत यूजर्स को आपको एक अस्थायी आईपी पता निर्दिष्ट करके और आपके द्वारा कनेक्ट की जाने वाली प्रत्येक वेबसाइट या ईमेल से अपना वास्तविक आईपी पता छिपाकर, वीपीएन आपके डेटा को सुरक्षित और गोपनीय रखता है. 

       

Source link ABP Hindi