अफगानिस्तान में तालिबान के आने के बाद क्या सीमा पर चीन-पाक का हो सकता है आक्रामक रुख? जानें

Bipin Rawat On Afghanistan Crisis: अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में आने के बाद विश्व और क्षेत्रीय सुरक्षा को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. तालिबान की नई कार्यवाहक सरकार का गठन कर दिया गया है. इसमें अधिकतर ऐसे लोगों को सरकार में शामिल किया गया है, जिन पर यूएन की तरफ से पहले ही प्रतिबंध लगाया जा चुका है. इस बीच, भारत की सीमा पर सुरक्षा और पड़ोसी चीन और पाकिस्तान के रूख को लेकर भी लगातार सवाल उठ रहे हैं.

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत ने बुधवार को अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में आने के बाद भारतीय सीमा पर भविष्य में चीन और पाकिस्तान के ओर से संभावित आक्रामक रुख अपनाए जाने की संभावनाओं पर जवाब दिया. सीडीएस बिपिन रावत ने कहा कि यह सिर्फ आने वाला समय ही बताएगा.

बिपिन रावत ने कहा- सिर्फ समय बताएगा कि तालिबान में क्या होगा. हमें उसका इंतजार करना चाहिए. कोई यह उम्मीद नहीं कर रहा था कि तालिबान इतनी जल्द उस देश को अपने नियंत्रण में ले लेगा. उन्होंने कहा कि और भी ज्यादा उथल-पुथल हो सकती है. भविष्य में क्या होगा यह कोई नहीं बता सकता है. गौरतलब है कि पिछले महीने तालिबान ने पूरी तरह अफगानिस्तान को अपने नियंत्रण में ले लिया. उसके बाद नई कार्यवाहक सरकार का वहां पर गठन किया गया है.  

ये भी पढ़ें:

Afghanistan News: सरकार गठन के हफ्तेभर बाद बोले अफगानिस्तान के विदेश मंत्री, आतंकियों के लिए नहीं होने देंगे सरजमीं का इस्तेमाल, दी ये चेतावनी

चीन और पाक के राजदूत से मिले अफगानिस्तान के विदेश मंत्री, कहा- हम US से भी अच्छे रिश्ते चाहते हैं लेकिन…

Source link ABP Hindi