अफगानिस्तान में बिगड़े हालात और तालिबान के कब्जे के बीच चीन ने कहा- US ऐसे नहीं मुंह मोड़ सकता

Afghanistan Crisis: अफगानिस्तान को लेकर चीन ने एक बार भी अमेरिका की कटु आलोचना करते हुए कहा कि वह युद्ध से जर्जर देश से इस तरह मुंह नहीं मोड़ सकता है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने सोमवार को कहा, ‘‘अमेरिका इस सबकी जड़ है और अफगानिस्तान मामले में सबसे बड़ा बाहरी कारक है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘वह ऐसे (अपनी जिम्मेदारियों से) नहीं भाग सकता.’’ उन्होंने अमेरिका से स्थिरता बनाए रखने, अफरा-तफरी मचने से रोकने और अफगानिस्तान के पुन:निर्माण में मदद करने को कहा. उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मैं आशा करता हूं कि अमेरिका अपनी कथनी करनी में फर्क नहीं करेगा, अफगानिस्तान पर अपनी जिम्मेदारी समझेगा और विकास, पुन:निर्माण तथा मानवीय सहायता के संदर्भ में अफगानिस्तान के लिए अपनी प्रतिबद्धताओं को निभाएगा.’’ चीन ने युद्ध प्रभावित देश के पुन:निर्माण के लिए तालिबान सहित सभी पक्षों के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जतायी है.

काबुल हवाईअड्डे पर हमलावरों ने अफगान जवान की हत्या की

जर्मनी की सेना ने कहा कि सोमवार को काबुल हवाईअड्डे के उत्तरी द्वार पर अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों और अज्ञात हमलावरों के बीच गोलीबारी हुई है जिसमें एक अफगान सुरक्षा अधिकारी की मौत हो गई. सेना ने ट्वीट करके बताया कि सोमवार को तड़के हुई इस मुठभेड़ में अफगानिस्तान के एक सुरक्षा अधिकारी की मौत हो गई है जबकि तीन अन्य घायल हो गए हैं. उसने बताया कि इस संघर्ष में अमेरिका और जर्मनी के बल भी शामिल हो गए, जर्मनी का कोई सैनिक घायल नहीं हुआ है.

अभी इस बारे में कोई सूचना नहीं है कि हमलावर कौन थे. काबुल हवाईअड्डे के बाहरी क्षेत्रों में तैनात तालिबान ने अब तक यहां नाटो या अफगान जवानों पर गोलीबारी नहीं की है. रविवार को काबुल हवाईअड्डे में घुसने का प्रयास कर रही भीड़ में से कम से कम सात लोगों की अफरा-तफरी के दौरान मौत हो गई थी. अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद हजारों लोग उसके शासन से बचकर भागने की कोशिश में हैं.

ये भी पढ़ें: 

Afghanistan Crisis: अफगानिस्तान में तालिबान की वापसी के पीछे इस शख्स का है बड़ा हाथ

Panjshir News: पंजशीर को ओर बढ़ रहा तालिबान, अहमद मसूद बोले- जवाब देने को हमारे लड़ाके तैयार

Source link ABP Hindi