अफगानिस्तान में मेयर रहीं जरीफा ने बताया- मुझे ढूंढने मेरे घर आए थे तालिबान के लड़ाके

Afghanistan News: इस समय पूरी दुनिया की नजर अफगानिस्तान पर है. देश में चारों चरफ अफरातफरी का मौहाल है. अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद लोग वहां से भाग रहे हैं. तस्वीरों में उनके दर्द की दास्तां को बयां कर रहे हैं. तालिबान एक तरफ शांति की बात करता है तो दूसरी तरफ उसकी तरफ से कई गई हिंसा की खबरें आती हैं. इस बीच काबुल के पश्चिम स्थित मैदान शहर की मेयर रहीं जरीफ गफ्फारी ने तालिबान की क्रूरता के बारे में बताया. जरीफा ने कहा कि तालिबान अफगानिस्तान में उनके घर आए, वे मुझे ढूंढ रहे थे और उन्होंने मेरे हाउस गार्ड को भी पीटा. उनके पास उन लोगों की सूची है जिन्होंने पहले उदार दृष्टिकोण अपनाया था. ज़रीफा गफ्फारी अफगानिस्तान की पहली महिला मेयरों में से एक थीं. वो पश्चिमी काबुल के मैदान शहर की मेयर थीं.

जरीफा गफ्फारी ने कहा, “अफगानिस्तान हमारा था और यह हमारा रहेगा चाहे कोई भी आए. अगर मुझ जैसी औरतें अब वहां नहीं हैं तो इसलिए कि…बिल्कुल एक बाघ की तरह जो दो कदम पीछे हटकर और ताकत के साथ वापस आता है. हमें दुनिया को अफगानिस्तान में तालिबान का असली चेहरा दिखाना है.”

इसके साथ ही उन्होंने कहा, “मेरा उद्देश्य है कि मै विभिन्न देशों के उच्च पदस्थ अधिकारियों, राजनेताओं और महिलाओं से मिलूं ताकि उन्हें अफगानिस्तान की वास्तविक स्थिति से अवगत कराया जा सके…और उन्हें एक आंदोलन शुरू करने के लिए मेरे साथ जुड़ने के कह सकूं.”

तालिबान ने अमेरिका से कहा- अफगानियों को निकालना बंद करो

एक तरफ जहां लोग अफगानिस्तान को छोड़कर जाना चाहता हैं, वहीं तालिबान ने अमेरिका से कहा है कि वो स्किल्ड अफगानियों को देश से बाहर निकलना बंद कर दे. तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद का कहना है कि अमेरिका को अफगान के संपन्न वर्ग को देश छोड़ने के लिए प्रोत्साहित नहीं करना चाहिए. उसका यह भी कहना है कि तालिबान पंजशीर की समस्या का शांतिपूर्ण समाधान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. तुलु न्यूज़ ने इस बात की जानकारी दी.

Afghanistan Crisis: अफगानिस्तान में गहराते संकट के बीच तालिबान ने महिला सरकारी कर्मचारियों से अभी घर पर ही रहने को कहा, जानें वजह

Afghanistan Crisis: तालिबानी नेता अब्दुल गनी बरादर के साथ अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA के चीफ ने काबुल में की सीक्रेट मीटिंग

Source link ABP Hindi