अफगानिस्तान से भारत पहुंचे गुरु ग्रंथ साहिब को महावीर नगर गुरुद्वारे में किया गया स्थापित

Afghanistan News: अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद वहां के धार्मिक स्थलों की सुरक्षा को लेकर भी सवाल खड़े होने लगे हैं इसी को देखते हुए अफगानिस्तान के तीन गुरुद्वारों में रखी गुरु ग्रंथ साहिब को वापस भारत लाया गया. दिल्ली एयरपोर्ट पर गुरु ग्रंथ साहिब के पहुंचने के बाद केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने उनको अपने सिर पर रखकर नमन किया और एयरपोर्ट टर्मिनल तक लाए. इसके बाद अकाली दल नेता और शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी दिल्ली के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने एयरपोर्ट पर खासतौर से लाई गई पालकी में गुरु ग्रंथ साहिब की प्रतियों को रखकर पश्चिमी दिल्ली के महावीर नगर गुरुद्वारे तक पहुंचाया जहां पर उनको स्थापित करने के बाद शबद कीर्तन और अरदास किया गया.

मंगलवार सुबह अफगानिस्तान से दुशांबे में होते हुए अफगानी और भारतीय नागरिक तो दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर पहुंचे ही लेकिन उन नागरिकों के साथ ही अफगानिस्तान के तीन अलग-अलग गुरुद्वारों में रखी गुरु ग्रंथ साहिब की प्रतियां भी उसी जहाज से भारत पहुंची. गुरु ग्रंथ साहिब की ये प्रतियां अफगानिस्तान के तीन अलग-अलग गुरुद्वारों में रखी हुई थीं. लेकिन तालिबान के कब्जे के बाद आशंका यह बनी हुई थी कि कहीं ऐसा ना हो कि तालिबान गुरुद्वारों और गुरु ग्रंथ साहिब की प्रतियों को किसी तरह का नुकसान पहुंचाए इसी आशंका को देखते हुए गुरु ग्रंथ साहिब की तीन प्रतियों को भारत वापस लाया गया.

एयरपोर्ट पर उतरने के बाद गुरु ग्रंथ साहिब की तीनों प्रतियों को एयरपोर्ट परिसर में पालकी के तौर पर सजाई गई एक बस में रखा गया. इस दौरान पंच प्यारे भी वहां पर मौजूद थे और पूरे रीति रिवाज और मान्यता के हिसाब से गुरु ग्रंथ साहिब की तीनों प्रतियों को उस पालकी में शोभित किया गया. जिसके बाद पूरे सुरक्षा इंतजामों और नगर कीर्तन करते हुए गुरु ग्रंथ साहिब की प्रतियों को पश्चिमी दिल्ली के महावीर नगर स्थित गुरुद्वारे पहुंचाया गया. गुरुद्वारे में पहुंचने के बाद गुरु ग्रंथ साहिब की प्रति को वहां स्थापित किया गया और इस दौरान शब्द कीर्तन और अरदास भी किया गया.

अफगानिस्तान में यूक्रेन का एक विमान हाइजैक, रेस्क्यू करने आए विमान को ईरान ले जाने का दावा

Afghanistan Crisis: पीएम मोदी और रूस के राष्ट्रपति पुतिन के बीच 45 मिनट तक फोन पर हुई बात, अफगानिस्तान के हालात पर हुई चर्चा

Source link ABP Hindi