अमेरिका यूएन महासभा की बैठक से कोरोना फैलने को लेकर आशंकित, नेताओं से वर्चुअल संबोधन का आग्रह 

संयुक्त राष्ट्रः अमेरिका ने दुनियाभर में कोविड-19 के डेल्टा वेरिएंट के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त की है. अमेरिका ने अगले महीने होने वाले संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र को लेकर विश्व के नेताओं को आगाह करते हुए उनसे न्यूयॉर्क आने के बजाए वीडियो के जरिए ही अपने बयान देने का आग्रह किया है. उसने वैश्विक नेताओं से कहा है कि वे महासभा के वार्षिक सत्र में हिस्सा लेने के लिए न्यूयॉर्क की यात्रा करने के बजाए वीडियो के जरिए ही अपना संबोधन कर सकते हैं, ताकि कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. 

संयुक्त राष्ट्र में आम चर्चा का सत्र 21 सितंबर से शुरू होगा और 27 सितंबर तक चलेगा. संयुक्त राष्ट्र ने महासभा के 76वें सत्र में आम बहस में हिस्सा लेने वाले वक्ताओं की पहली सूची जारी की है जिसके अनुसार भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 25 सितंबर को वहां व्यक्तिगत रूप से मौजूद रहकर महासभा के वार्षिक सत्र को संबोधित कर सकते हैं.

सुरक्षा सुनिश्चित करना अमेरिका की जिम्मेदारी
संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत लिंडा थॉमस-ग्रीनफील्ड ने संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्य देशों को पत्र लिख कर कहा कि संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय के मेजबान देश के रूप में अमेरिका की यह जिम्मेदारी है कि वह महासभा के सत्र में हिस्सा लेने वालों और न्यूयॉर्क के लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करे. पत्र के मुताबिक अमेरिकी राजदूत ने कहा, ‘‘ हमें 76वें वार्षिक सत्र को कोरोना वायरस संक्रमण फैलने का जरिया बनने से रोकने में आपकी सहायता की आवश्यकता है.’’

जो बाइडेन पहली बार करेंगे संबोधित
गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन व्यक्तिगत रूप से महासभा के सत्र को संबोधित करने वाले हैं, जो कि अमेरिकी नेता के रूप में वैश्विक संगठन में उनका पहला संबोधन होगा. संयुक्त राष्ट्र महासभा का 76वां सत्र 14 सितंबर से शुरू होगा. मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद साल भर चलने वाले इस सत्र के अध्यक्ष होंगे.

यह भी पढ़ें-

अमेरिका में बाढ़ और ‘ग्रेस’ तूफान ने मचाई भारी तबाही, 8 लोगों की मौत, कई लापता 

रूस में आज से शुरू होंगे ‘इंटरनेशल आर्मी-गेम्स’, भारतीय सेना के 101 सदस्यों की टुकड़ी लेगी हिस्सा

 

Source link ABP Hindi