अयोध्या: राष्ट्रपति के आगमन को लेकर राम जन्मभूमि परिसर में की जा रही विशेष तैयारियां

राष्ट्रपति के आगमन को लेकर प्रशासन अपनी चाक-चौबंद तैयारियां कर रहा है. राम जन्मभूमि परिसर में भी विशेष तैयारियां शुरू की गई है. राम जन्मभूमि परिसर में लगभग आधे घंटे से ज्यादा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मौजूद रहेंगे और वहां पर दर्शन पूजन मंदिर निर्माण के कार्य का अवलोकन और राम जन्मभूमि परिसर में पौधरोपण का काम राष्ट्रपति करेंगे. इस दरमियान राष्ट्रपति को रामलला के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास की तरफ से प्रसाद अंग वस्त्र देकर के स्वागत भी किया जाएगा. राष्ट्रपति के अयोध्या आगमन को लेकर नगर की सभी दुकान, मकान, मुख्य मार्ग को भगवा किया जा रहा है. साथ ही राम जन्मभूमि के मुख्य गेट को भी केसरिया रंग में रंगा जा रहा है.

राष्ट्रपति को राम जन्मभूमि परिसर में उसी मार्ग से ले जाया जाएगा, जिस मार्ग से 5 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री गए थे और प्रधानमंत्री के आगमन से भी ज्यादा तैयारियां राम जन्मभूमि परिसर में राष्ट्रपति के आगमन को लेकर की जा रही हैं. विराजमान रामलला के अस्थाई मंदिर के बाहर विशालकाय टेंट लगाया जा रहा है, जहां पर वैदिक ब्राह्मण रामलला के सामने राष्ट्रपति को पूजन कराएंगे क्योंकि रामलला के मंदिर निर्माण के लिए भरी जाने वाली बुनियाद भरने का काम पूरा हो चुका है. ऐसे में राष्ट्रपति मंदिर के नींव का अवलोकन करेंगे और मंदिर निर्माण की तैयारियों के बाबत जानकारी भी लेंगे.

भगवान रामलला को धारण कराई जाएगी विशेष पोशाक

राष्ट्रपति के अयोध्या आगमन का उत्साह इसी से लगा सकते हैं कि राम जन्मभूमि परिसर में भगवान रामलला को राष्ट्रपति के आगमन के दिन विशेष पोशाक धारण कराई जाएगी. साथ ही रामलला के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास के द्वारा राष्ट्रपति को रामायण की किताब और विजय ध्वज दिया जाएगा. राष्ट्रपति के आगमन को लेकर प्रधानमंत्री ने जिस गेट से राम जन्मभूमि परिसर में प्रवेश किया था, उसी से राष्ट्रपति को भी ले जाने के लिए तैयारियां की जा रही है. रामलला के संपर्क मार्ग जिसको प्रशासनिक भाषा में गेट नंबर 3 कहा जाता है, इस मार्ग को केसरिया बनाया जा रहा है. अंदर मार्ग के दोनों तरफ बकायदा पर्दे और लगाए जाएंगे एक वीआईपी रोड बनाया जाएगा, जिससे रामलला के परिसर में महामहिम राष्ट्रपति प्रवेश करेंगे और दर्शन पूजन करेंगे.

राष्ट्रपति के अयोध्या आगमन को लेकर चल रही तैयारी 

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कैंप कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया कि राष्ट्रपति के प्रथम बार अयोध्या आगमन को लेकर परिसर में भी तैयारियां चल रही हैं. मंदिर प्रांगण में रंग रोगन का काम चल रहा है. साफ सफाई का काम चल रहा है. राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए ट्रक मैटेरियल लेकर परिसर में प्रवेश करे रहे है, जिसकी वजह से रास्ते खराब हो गए थे, उन रास्तों को ठीक कराया जा रहा है, जिससे कि आवागमन में कोई समस्या ना हो. यह हमारे लिए हर्ष का विषय है और राष्ट्रपति पहली बार रामलला के दर्शन करने आ रहे हैं. राष्ट्रपति के स्वागत की भी व्यवस्था की जा रही है. राष्ट्रपति राम जन्मभूमि परिसर में रामलला का दर्शन करेंगे. प्रधान पुजारी के द्वारा उन्हें प्रसाद अंग वस्त्र और स्मृति चिह्न देकर स्वागत होगा. महामहिम रामनाथ कोविंद राम मंदिर निर्माण कार्य का अवलोकन करेंगे. 

वहीं पौधरोपण को लेकर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट कैंप कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया कि प्रधानमंत्री अयोध्या आए थे और स्मृति के तौर पर उन्होंने राम जन्मभूमि परिसर में नक्षत्र वाटिका में सीता अशोक वृक्ष का पौधरोपण किया था. राष्ट्रपति भी आ रहे हैं. स्वाभाविक रूप से उनसे भी राम जन्मभूमि परिसर में पौधरोपण स्मृति के तौर पर कराया जाएगा. 

ये भी पढ़ें:

Delhi Schools Re-open: दिल्ली में अगले महीने 6ठी से 12वीं कक्षा तक दोबारा खुलेंगे स्कूल, कम होते कोरोना केस के बीच लिया गया फैसला

Corona Vaccination: देश में बना वैक्सीनेशन का रिकॉर्ड, आज लगाई गई 90 लाख से ज्यादा टीके की डोज़

Source link ABP Hindi