आज का पंचांग: 27 अगस्त को प्रात: 10 से 12 बजे तक न करें शुभ कार्य, बना है अशुभ योग

Aaj Ka Panchang 27 August 2021: 27 अगस्त 2021 का दिन धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है. पंचांग के अनुसार आज कुछ विशेष योग का निर्माण हो रहा है. शुभ कार्य अशुभ योग में नहीं करने चाहिए. शुक्रवार के दिन किस देवी की पूजा का योग बना हुआ है, आइए जानते हैं.

आज की पूजा
लक्ष्मी पूजा- पंचांग के अनुसार 27 अगस्त 2021, शुक्रवार को भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि है. शुक्रवार का दिन लक्ष्मी जी को समर्पित माना गया है. शास्त्रों में लक्ष्मी जी को सुख-समृद्धि और वैभव की देवी माना गया है. लक्ष्मी जी का आशीर्वाद जीवन में आने वाली आर्थिक समस्याओं को दूर करता है. शुक्रवार के दिन सुबह और शाम के समय लक्ष्मी जी की पूजा करना शुभ फलदायी माना गया है. इस दिन लक्ष्मी जी की आरती और मंत्र का जाप करने से शुभ फल प्राप्त होते हैं.

आज का राहु काल
शुक्रवार को राहु काल प्रात: 10 बजकर 45 मिनट से दोपहर 12 बजकर 48 मिनट तक रहेगा.  राहु काल में शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है.

27 अगस्त 2021 पंचांग (Panchang 27 August 2021)
विक्रमी संवत्: 2078
मास पूर्णिमांत: भाद्रपद
पक्ष: कृष्ण
दिन: शुक्रवार
तिथि: पंचमी – 18:51:32 तक
नक्षत्र: अश्विनी – 24:47:57 तक
करण: कौलव – 05:59:22 तक, तैतिल – 18:51:32 तक
योग: वृद्धि – 29:52:37 तक
सूर्योदय: 05:56:15 AM
सूर्यास्त: 18:48:47 PM
चन्द्रमा: मेष राशि
द्रिक ऋतु: वर्षा
राहुकाल: 10:45:56 से 12:22:31 तक (इस काल में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है)
शुभ मुहूर्त का समय, अभिजीत मुहूर्त – 11:56:45 से 12:48:16 तक
दिशा शूल: पश्चिम
अशुभ मुहूर्त का समय –
दुष्टमुहूर्त: 08:30:45 से 09:22:15 तक, 12:48:16 से 13:39:46 तक
कुलिक: 08:30:45 से 09:22:15 तक
कालवेला / अर्द्धयाम: 15:22:46 से 16:14:16 तक
यमघण्ट: 17:05:46 से 17:57:16 तक
कंटक: 13:39:46 से 14:31:16 तक
यमगण्ड: 15:35:39 से 17:12:13 तक
गुलिक काल: 07:32:49 से 09:09:23 तक

यह भी पढ़ें:
Janmashtami 2021: भगवान श्रीकृष्ण थे, 16 कलाओं के स्वामी, क्या आप इन कलाओं के बारे में जानते हैं? नहीं तो यहां पढ़ें

Chanakya Niti: ये छोटी बातें दोस्ती के रिश्ते को करती हैं कमजोर, जानें चाणक्य नीति

Lakshmi Ji:  27 अगस्त को लक्ष्मी जी की पूजा का बन रहा है, शुभ संयोग, इस दिन करें ये उपाय

 

Source link ABP Hindi