इस साल कब है धनतेरस? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व

Dhanteras 2021 Date: पंचांग के अनुसार इस वर्ष धनतेरस का पर्व 02 नबंवर 2021, मंगलवार को कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी की तिथि में मनाया जाएगा. मान्यता के अनुसार धनतेरस का पर्व कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी की तिथि को मनाया जाता है. इस पर्व का संबंध धन और समृद्धि से माना गया है. इस दिन भगवान धन्वंतरि देव की विशेष पूजा की जाती है.

धनतेरस पर ऐसा माना जाता है कि इस दिन ही भगवान धन्वंतरि का जन्म हुआ था. इसी कारण इसे धन्वंतरि जयंती और धन त्रयोदशी भी कहा जाता है. इस दौरान बाजार से आभूषण, वाहन, बर्तन आदि खरीदकर घर में लाने को शुभ माना गया है.

धनतेरस का महत्व
धनतेरस पर धन्वंतरि देव और मां लक्ष्मी की पूजा का विधान बताया गया है. लक्ष्मी जी को धन की देवी माना गया है. लक्ष्मी जी की कृपा से वैभव, सुख समृद्धि प्राप्त होती है. जिन लोगों पर लक्ष्मी जी का आशीर्वाद बना रहता है, उनका जीवन कष्ट, बाधा और परेशानियों से मुक्त रहता है. इस दिन शुभ मुहूर्त में विधि पूर्वक पूजा करने से धन्वंतरि देव और लक्ष्मी जी की विशेष कृपा प्राप्त होती है.

धनतेरस 2021- तिथि और मुहूर्त (Dhanteras 2021 Puja Time Muhurat)
धनतेरस तिथि- 02 नवंबर 2021, मंगलवार 
प्रदोष काल- शाम 05:35 से 08:11 तक
वृषभ काल- शाम 06:18 से शाम 08:14 तक
धनतेरस 2021 पूजन शुभ मुहूर्त- शाम 06:18 से 08:11 तक

भगवान धन्वंतरि की कथा
पौराणिक मान्यता के अनुसार धन्वंतरि देव को भगवान विष्णु का अवतार माना गया है. इन्हें 12वां अवतार भी माना गया है. धन्वंतरि को आयुर्वेद का जन्मदाता भी कहा गया है. इसीलिए इन्हें देव चिकित्सक का दर्जा प्राप्त है. धन्वंतरि भगवान का जन्म समुद्र मंथन से हुआ था. कार्तिक मास की त्रयोदशी की तिथि में समुद्र मंथन से भगवान धन्वंतरि प्रकट हुए थे. भगवान धन्वंतरि कई ग्रंथों के रचयिता भी हैं. धन्वंतरि संहिता की रचना भी धन्वंतरि देव ने ही की थी, जो आयुर्वेद का मूल ग्रंथ माना जाता है.

यह भी पढ़ें:
Monthly Horoscope Bhadrapada 2021: मेष, सिंह और तुला राशि वालों के साथ इन सभी राशियों को धन के मामले में देना होगा विशेष ध्यान, जानें राशिफल

Diwali 2021: दिवाली कब की है? इस बार लक्ष्मी पूजन पर बन रहा है विशेष योग

Source link ABP Hindi