इस साल दिवाली पर बन रहा है ये दुर्लभ संयोग, मिल सकते हैं शुभ परिणाम, जानें पूजा का शुभ मुहूर्त

Diwali 2021: दिवाली का त्योहार देशभर में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है. हिंदू धर्म में दिवाली के त्योहार का विशेष महत्व है. कार्तिक मास की अमावस्या तिथि के दिन दिवाली का त्योहार मनाया जाता है. इस दिन धन की देवी मां लक्ष्मी और भगवान गणेश जी की पूजा की जाती है. इस साल दिवाली 4 नंवबर को मनाई जाएगी. ज्योतिषियों के अनुसार इस बार दिवाली पर एक दुर्लभ संयोग बन रहा है. इस संयोग में ही दिवाली मनाई जाएगी. बताया जा रहा है कि इस साल चार ग्रह एक ही राशि में विराजमान होने के कारण ये दुर्लभ संयोग बन रहा है. इस संयोग को शुभ माना जाता है. कहते हैं कि इस संयोग नें दिवाली पूजन करने से शुभ परिणाम सामने आते हैं. 

एक ही राशि में होंगे चार ग्रह

हिंदू कैलेंडर के अनुसार 4 नवंबर 2021, गुरुवार के दिन कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या के दिन दिवाली मनाई जाएगी. इस साल दिवाली पर सूर्य, मंगल, बुध और चंद्रमा एक ही राशि पर विराजमान होंगे. माना जा रहा है कि तुला राशि में इन चारों ग्रहों के रहने से शुभ परिणाम देखने को मिलेंगे. बता दें कि तिष शास्त्र में सूर्य को ग्रहों का राजा, मंगल को ग्रहों का सेनापति, बुध को ग्रहों का राजकुमार और चंद्रमा को मन का कारक माना गया है।

मिल सकते हैं ये शुभ परिणाम

तुला राशि में एक साथ सूर्य, मंगल, बुध और चंद्रमा होने से जातक को शुभ संकेत मिल सकते हैं. इससे धन- लाभ होने के संभावना रहती है. इसके साथ ही, नौकरी और व्यापार में तरक्की के योग बन सकते हैं. साथ ही, मान- सम्मान और पद- प्रतिष्ठा में भी वृद्धि होगी.

लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त

बता दें कि कार्तिक मास की अमावस्या तिथि 04 नवंबर को सुबह 06 बजकर 03 मिनट से प्रारंभ होकर 05 नवंबर को सुबह 02 बजकर 44 मिनट पर समाप्त होगी. दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन का मुहूर्त शाम 06 बजकर 09 मिनट से रात 08 बजकर 20 मिनट तक रहेगा. और पूजन अवधि 01 घंटे 55 मिनट की होगी.

Diwali 2021: लक्ष्मी पूजा की जानें शुभ समय, दिवाली पर करें ये उपाय, लक्ष्मी जी की बरसेगी कृपा

Diwali 2021 : कार्तिक मास में इस दिन से शुरू है 5 दिवसीय पर्व, यहां जानें धनतेरस, दिवाली, महालक्ष्मी पूजन, गोवर्धन पूजा और भाई दूज की सही तारीख

 

Source link ABP Hindi