ऋषिकेश-देहरादून हाईवे पर रानी पोखरी पुल टूटने से लोगों को करना पड़ रहा है दिक्कतों का सामना

Uttarakhand News: उत्तराखंड के ऋषिकेश-देहरादून हाईवे पर कल रानी पोखरी पुल टूटकर ध्वस्त हो गया था. इसके चलते इस मार्ग पर आने जाने वाले लोगों को अब काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. लोगों को अब 30 किलोमीटर का चक्कर काटकर ऋषिकेश या रानीपोखरी जाना पड़ रहा है. इसके साथ ही देहरादून एयरपोर्ट पर टैक्सी संचालकों के सामने भी पुल टूटने से दिक्कत खड़ी हो गई है. ये टैक्सी संचालक एयरपोर्ट से ऋषिकेश के लिए इसी पुल से आवाजाही करते थे.

पुल का एक हिस्सा गिर जाने के बाद अब प्रशासन ने पुल पर आवाजाही को पूरी तरह से बंद कर दिया है. साथ ही जौली ग्रांट एयरपोर्ट पर बैरिकेडिंग लगाकर आवाजाही रोक दी गई है. बता दें कि, ये पुल इसलिए भी महत्वपूर्ण था क्योंकि ये गढ़वाल क्षेत्र को देहरादून से जुड़ता था. हालांकि अब गढ़वाल क्षेत्र से आने वाले लोगों को देहरादून जाने के लिए नेपाली फार्म होते हुए आना पड़ेगा, जो तकरीबन 30 किलोमीटर का एक्स्ट्रा रन होगा. वही ऋषिकेश से जौलीग्रांट एयरपोर्ट आने के लिए भी लोगों को इसी मार्ग से आना पड़ेगा.

स्थानीय लोगों को हो रही है सबसे ज्यादा दिक्कत 

पुल टूटने से ज्यादातर दिक्कत स्थानीय लोगों को हो रही हैं जिनकी आवाजाही ऋषिकेष से रानीपोखरी और डोईवाला बीच हर रोज होती थी. पुल के टूटने से टैक्सी संचालकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. खासकर चार धाम यात्रा के दौरान एयरपोर्ट के टैक्सी संचालक इसी पुल से यात्रियों को ले जाते थे. अब उन्हें  भानियावाला वाया नेपाली फार्म होते हुए ऋषिकेश और गढ़वाल क्षेत्र को जाना पड़ेगा. जिससे उनको लगभग 30 से 35 किलोमीटर का एक्स्ट्रा रन करना होगा.

मुख्यमंत्री धामी ने गठित की जांच समिति 

इस मामले पर राज्य के सीएम पुष्कर सिंह धामी भी एक्शन में आ गए हैं. मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति भी गठित की है. इस जांच समिति को 7 दिन के अंदर ही शासन को अपनी रिपोर्ट सौंपनी होगी. 

यह भी पढ़ें 

जन-धन योजना के सात साल पूरे, पीएम मोदी ने कहा- PMJDY ने भारत के विकास की गति बदल दी

Petrol-Diesel Price, 28 August: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार चौथे दिन नहीं हुआ कोई बदलाव, जानें आपके शहर के रेट

Source link ABP Hindi