एक मिनट में दोनों हाथ से सिग्नेचर का बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड में मिली जगह

MP News: मध्य प्रदेश के जबलपुर की जान्हवी रामटेक्कर ने सिर्फ एक मिनट में एक हाथ से 18 और दूसरे हाथ से 18 यानी कुल 36 बार साइन करके अनोखा रिकॉर्ड कायम किया है. अपनी इस खूबी की वजह से जान्हवी को हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड में जगह मिली है. जान्हवी ने न केवल फास्टेस्ट सिग्नेचर का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है बल्कि वो दोनों हाथ से एक साथ परीक्षा की कॉपी भी लिख लेती हैं. इतना ही नहीं जान्हवी दोनों हाथ से एक साथ पेंटिंग बनाने में महारत हासिल कर चुकी हैं.

ऐसे हासिल किया ये मुकाम
दिल्ली में एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरिंग का कोर्स कर रहीं जान्हवी ने बताया कि जब वह 10वीं क्लास में थी तो अचानक से एक बीमारी होने के कारण राइट हैंड से नहीं लिख पा रही थी. एक हफ्ते बाद परीक्षा थी तो घरवालों की प्रेरणा से उसने बांये हाथ से लिखने की प्रैक्टिस शुरू की. तब तो बांये हाथ से इतना तो लिखना सीख लिया था कि जैसे तैसे परीक्षा पास कर ली. लेकिन इसके बाद उन्होंने ठान लिया कि अब दोनों हाथों से लिखने में महारत हासिल करनी है. इसी सोच और कोशिश के साथ पहले इंडिया बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड और अब हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड लंदन में उन्होंने अपना नाम दर्ज कराया है.

पेंटिग्स और नोट्स भी कर लेती हैं तैयार 
जान्हवी ने एबीपी न्यूज़ से बातचीत में बताया “बोर्ड एग्जाम में पेपर देने के जज्बे के चलते दूसरे हाथ से लिखने की प्रैक्टिस ने मुझे यह दो-दो अवार्ड दिलवा दिए. हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड कमेटी को मैंने पहले के अचीवमेंट, सर्टिफिकेट्स और प्री-डेटा शेयर किया, फिर एक मिनट में दोनों हाथ से 36 सिग्नेचर करने का लाइव वीडियो भी भेजा. इसे देखकर ही मुझे यह रिकॉर्ड मिला. अब मैं दोनों हाथों से पेन्टिंग भी बनाती हूं और नोट्स भी तैयार कर लेती हूं.”

परिवार को दिया क्रेडिट
जान्हवी ने बताया कि वर्तमान में वो दिल्ली से एयरक्राफ्ट मेंटनेंस इंजीनियरिंग का कोर्स कर रही हैं. उसकी इस सक्सेस में उनकी मां रंजना रामटेक्कर और पिता सुभाष रामटेक्कर और बड़ी बहन प्रोन्नती रामटेक्कर का बहुत सपोर्ट मिला है. उन्होंने कहा कि परिवार की मदद से आज उन्होंने इस उपलब्धि को हासिल किया है. 

ये भी पढ़ें

MP News: मध्यप्रदेश में 6 हजार अवैध कॉलोनियों को नियमित करेगी शिवराज सरकार, लाखों लोगों को ऐसे होगा फायदा

MP News: जबलपुर में कलेक्टर ने दिए अपनी ही सैलरी रोकने के निर्देश, जानिए क्या है पूरा मामला

Source link ABP Hindi