एक हफ्ते में मुंबई में 40 बच्चे हुए कोरोना संक्रमित, क्या तीसरे लहर की है दस्तक?

Mumbai Coronavirus Update: मुंबई में एक हफ्ते के भीतर 40 से ज्यादा बच्चे कोरोना पॉजिटिव हुए हैं. पहले बायकला के सेंट जोसेफ अनाथ आश्रम की 22 बच्चियां संक्रमित हुईं और फिर रविवार को चेंबुर चिल्ड्रन होम में 18 बच्चे पॉजिटिव आए. ऐसा में सवाल उठ रहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुंबई महा नगर पालिका की तयारी कैसी है ? 

मुंबई के मानखुर्द में चेंबुर चिल्ड्रन होम में 18 बच्चे कोरोना से संक्रमित हुए, जिनकी उम्र 10-18 साल के बीच है. वहीं इस होम में कुल 102 बच्चे रहते हैं. चिल्ड्रन होम की गेट को बंद कर दिया है. नन्हे बच्चे इस गेट के अंदर बने घरों में है. 

महाराष्ट्र बाल चिकित्सा टास्क फोर्स के सदस्य बकुल पारेख का कहना है कि तीसरी लहर अब तक आई नहीं है. उन्होंने कहा कि बच्चों में संक्रमण होना इसका संकेत नहीं है. लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं और बिना मास्क के हर जगह जा रहे हैं, जो संक्रमण को फैला सकता है. बच्चों में जो संक्रमण फैल रहा है, वह बड़े ही फैला रहे हैं, क्योंकि वह अब सतर्क नहीं हैं. कई लोग टीकाकरण में विश्वास भी नहीं रखते. 

तैयारी कितनी हुई है इस बारे में पूछने पर बकुल पारेख ने कहा कि हर अस्पताल में ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की संख्या बढ़ा दी गई है. वहीं कई स्कूल की टीचरें आंगनवाड़ी महिलाओं को भी लोगों को जागरूक करने की खास ट्रेनिंग दी गई है. मुंबई के महानगर पालिका के अस्पतालों में और कोविड केंद्रों में बच्चों के लिए तैयारी रखी गई है. 

बीएमसी अधिकारियों से जब तैयारी के बारे मे पूछा गया तो उनका कहना है कि तैयारी हर एक अस्पताल और कोविड केंद्र में की गई है. 

नीतीश कुमार की ‘पीएम उम्मीदवारी’ पर केसी त्यागी बोले- उनमें योग्यता है लेकिन नरेंद्र मोदी उम्मीदवार हैं और रहेंगे

राज की बातः तालिबान ने रखी भारत के सामने मान्यता देने की मांग, जानें क्या है देश का रुख

Source link ABP Hindi