ओमिक्रोन के खिलाफ जंग में क्या करें और क्या नहीं, केंद्र ने राज्यों को दी सलाह

Covid 19 Spike on Dec 31: भारत में 31 दिसंबर को 16,764 मामले रिपोर्ट हुए, जो पिछले 70 दिनों में अब तक एक दिन में आए सबसे ज्यादा मामले हैं. बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों और ओमिक्रोन केस में बढ़ोतरी के बाद आज स्वास्थ्य सचिव ने एक बार फिर राज्यों के मुख्य सचिवों को चिट्ठी लिखी और तैयारी बढ़ाने के लिए कहा. पत्र में उन्होंने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में स्वास्थ्य क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को अपडेट करने की सलाह दी है. 

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने शनिवार को राज्यों को चिट्ठी लिखकर कहा कि सरकारें अस्थायी अस्पताल स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू करने और होम आइसोलेशन में मरीजों की निगरानी के लिए विशेष टीमों का गठन करें. केंद्र ने राज्यों से हर जिले में कंट्रोल रूम बनाने की भी सलाह दी है. साथ ही आइसोलेशन बेड और फील्ड अस्पताल, आईसीयू बेड, बाल चिकित्सा उत्कृष्टता केंद्र, ऑक्सीजन उपलब्धता, एम्बुलेंस, दवाएं, मानव संसाधन और टेली-कंसल्टेशन की व्यवस्था की भी बात कही गई है. 

ये भी पढ़ें- UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अभी सीट तय नहीं

होम आइसोलेशन (Home Isolation) में मरीजों की निगरानी के लिए विशेष टीमों का गठन करने को भी राज्यों से कहा गया है, क्योंकि काफी संख्या में मरीज होम क्वारंटीन में ही रह रहे हैं. सचिव की चिट्ठी में ओमिक्रोन के तेजी से बढ़ते मामले का जिक्र है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा है कि ओमिक्रोन के चलते यूरोप और अमेरिका में संक्रमण के मामलों में पिछले कुछ हफ्तों में बढ़ोतरी हुई है. भारत में भी 31 दिसंबर को पिछले 70 दिनों में कोरोना का एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा दर्ज किया गया. इसलिए अस्पताल, मेडिकल सेवाएं, दवाएं जैसी चीजें दुरुस्त करने को कहा गया है.

पत्र में कहा गया है कि सभी राज्यों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि जिला स्तर या उप जिला/वार्ड स्तर पर कंट्रोल रूम को फंक्शनल करें. टेस्टिंग, एम्बुलेंस और अस्पताल तक पहुंचने के लिए एक स्पष्ट रूप से परिभाषित सिस्टम को स्थापित करने और बड़े पैमाने पर जनता को सूचित करने की आवश्यकता है. साथ ही ऐसा सिस्टम बनाने की जरूरत है, जिसमें नागरिक कॉल कर सकते हैं और एम्बुलेंस प्राप्त कर सकते हैं. इसके अलावा कॉल सेंटर, जिला या राज्य स्तर के डैशबोर्ड/पोर्टल इसे आयोजित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं.

ये भी पढ़ें- Punjab Election 2022: सिद्धू से संबंधों को लेकर सीएम चन्नी ने दिया ये जवाब, जानिए अब किस बात पर मच रहा बवाल

ओमिक्रोन जिसे डब्ल्यूएचओ ने वेरिएंट ऑफ कंसर्न घोषित किया है, वो दुनिया के कई देशों में बढ़ रहा है. यूरोप और अमेरिका में कई विकसित देश पिछले कुछ हफ्तों में नए मामलों में उल्लेखनीय बढ़ोतरी दर्ज कर रहे हैं, जिसे पता चलता है कि ये वायरस हाई ट्रांसमिसिबिलिटी रखता है.

Source link ABP Hindi