करें श्री राम रक्षा स्त्रोत का पाठ, भूत-प्रेत बाधा को दूर करने के लिए है यह सबसे अच्छा उपाय

Shri Ram Raksha Stotra: भाद्रपद मास प्रारंभ हो चुका है. यह मास पर्वों एवं त्योहारों से भरे होने के साथ धार्मिक कार्यों को करने के एक लिए उत्तम होता है. ऐसे में भगवान श्रीराम की उपासना करने के लिए श्रीराम रक्षा स्त्रोत का पाठ करना पुण्यदायक और लाभदायक साबित होगा. श्रीराम रक्षा स्त्रोत में भगवान श्रीराम की महिमा का गुणगान किया गया है. मान्यता है कि श्रीराम रक्षा स्त्रोत का पाठ करने से भगवान श्रीराम भक्तों के सभी कष्ट काट देते हैं. उन्हें सभी सुख प्रदान करते हैं. श्रीराम रक्षा स्त्रोत का पाठ एक ऐसा अमोघ कवच है जिससे कोई भी शत्रु उसका बाल भी बांका नहीं कर सकता है. 

भूतप्रेत बाधा से बचने के लिए: यदि आप किसी भूत–प्रेत की बाधा से परेशान हैं तो आप इस दिव्य मंत्र- श्रीराम रक्षा स्त्रोत के जाप द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ जल पीयें. इसके बाद इस पवित्र जल से पीड़ित व्यक्ति को अभिमंत्रित करें.

नज़र दोष दूर करने के लिए: नजर दोष से बचने के लिए कागज पर लाल स्याही से श्रीराम रक्षा स्त्रोत को शुभ मुहूर्त में लिखें. उसके बाद इस कागज़ को इस दिव्य मंत्र से अभिमंत्रित करें और धूप, दीप से आरती करके इसे ताबीज में पहन लें.  

Janmashtami 2021: श्री कृष्ण के 108 नामों का करें जप, मिलेगी मुक्ति, पूर्ण होंगी मनोकामानाएं

वाहन दुर्घटना से बचने के लिए: यदि आपको वाहन दुर्घटना का खतरा बना रहता है, तो कागज़ पर लाल स्याही से श्रीराम रक्षा स्तोत्र को लिखें. इसके बाद इसे ताबीज में भरकर ताबीज को गाडी में बांध दें. मान्यता है कि ऐसा करने से वाहन से जुड़ी अनेकों तरह की बाधाएं दूर हो जाएंगी.

घर की कलह को दूर करने के लिए: यदि आपके घर में आये दिन कलह या वाद विवाद होता रहता है. तो आपको पूर्णिमा के दिन श्रीराम रक्षा स्तोत्र के 11 पाठ के द्वारा अभिमंत्रित जल में थोडा सा गोमूत्र मिलाकर पूरे घर में छिड़कना चाहिए. इससे घर की कलह दूर हो जाएगी.

Aaj Ka Panchang 26 August Live: आज गुरुवार को करें ये उपाय, गुरु दोष से मिलेगी मुक्ति, जानें आज का पंचांग, मुहूर्त व राहुकाल

 

Source link ABP Hindi