कहीं आप फल-सब्जियों से मुंह तो नहीं मोड़ रहे हैं, इससे हो सकते है बड़ा नुकसान

परिजनों और न्यूट्रिशनिस्ट से हम कहते हुए सुनते आए हैं कि फल और सब्जियों का खाना सेहत के लिए जरूरी है. लेकिन ज्यादातर लोग सब्जी और फल की निर्धारित मात्रा का सेवन नहीं करते हैं. अगर आप नहीं जानते हैं कि निर्धारित मात्रा क्या है, तो जान लें कि फल का दो कप और सब्जियों का ढाई से तीन कप रोजाना जरूर इस्तेमाल करना चाहिए. सब्जी और फल इतने महत्वपूर्ण क्यों हैं?

कहा जाता है आपकी प्लेट जितनी रंगीन होगी, ये उतना ही अधिक स्वस्थ होगा. ये आपकी सेहत को सुधारने के लिए कई पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं और न सिर्फ उनका स्वाद अद्भुत होता है, बल्कि आपकी वृद्धि और विकास में भी योगदान करते हैं. लेकिन क्या होगा जब आप उसे खाना छोड़ने लगें? आपके शरीर पर कुछ साइड-इफेक्ट्स देखने में आ सकते हैं.

आपके शरीर में फाइबर की कमी हो सकती है- हमें पहले से ही मालूम है कि फल और सब्जियां फाइबर से भरे होते हैं, और विशेषकर उनके छिलके. अगर आप हर वक्त मीट और फैट का सेवन करते हैं, तो शरीर में फाइबर की कमी से जूझ सकते हैं. इसलिए, सेब, कीवी, पत्तेदार हरी सब्जियों की शक्ल में अपनी डाइट को संतुलित करने की कोशिश करें. उसके अलावा, फल और सब्जियों में आम तौर से पानी की अधिक मात्रा होती है जिसके जरिए ब्लोटिंग की रोकथाम और शरीर में हाइड्रेशन को बढ़ाने में मदद मिलती है. 

आपकी स्किन सुस्त दिखाई दे सकती है- फल और सब्जी दोनों में एंटीऑक्सीडेंट्स ज्यादा होता है और आपकी स्किन के लिए शानदार काम करते हैं. न सिर्फ ये मुंहासे और रेडनेस को कम करते हैं बल्कि सूखे धब्बों को भी हटाते हैं. अगर आप संतुलित डाइट खाएंगे, तो आपकी स्किन साफ और नरम, मुलायम होगी. एंटीऑक्सीडेंट्स का काम उम्र ढलने की रोकथाम में मदद करना और झुर्रियों की मौजूदगी को कम करना है. 

विटामिन और मिनरल्स का हो सकता है अभाव- फूड्स में ए, सी और के समेत ज्यादातर विटामिन्स पाया जाता है जो पीला, लाल और हरे रंग में पाया जाता है. इसका मतलब हुआ कि पोषण की खुराक कीवी, नींबू, तीखे फल, सेब और हरी सब्जियों से हासिल कर सकते हैं. इसलिए, अगर आप पर्याप्त मात्रा में उसका इस्तेमाल नहीं करते हैं, तो आप अपनी इम्यूनिटी को कमजोर, आंख की सेहत को प्रभावित कर रहे होते हैं. 

आपके नाखुन और बाल पर असर पड़ सकता है- ये बात बिल्कुल स्पष्ट है कि शरीर को पर्याप्त पोषक तत्वों के नहीं मिलने से नाखुन कमजोर होने लगते हैं हैं और बाल की समस्या शुरू लगती है क्योंकि आपके बाल और नाखुनों को बढ़ने के लिए एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन ए और ई, आयरन जरूरी होता है.

Glycemic Index: डायबिटीज रोगियों के लिए इस इंडेक्स को समझना क्यों है अहम? जानिए

Antibody Test: क्या है एंटीबॉडी टेस्ट, कैसे कोरोना से लड़ाई में करता है मदद, जानें

 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator

Source link ABP Hindi