कानपुर को ट्रैफिक जाम से बचाने की तैयारी, जल्द ही लोगों को मिल सकता है Elevated Road का तोहफा

Kanpur Traffic Jam: कानपुर (Kanpur) शहर में रहने वाले लोगों को रोज ट्रैफिक जाम (Traffic Jam) से दो-चार होना पड़ता है. ऐसे में सबसे व्यस्त रहने वाले कुछ इलाकों में राहत प्रदान करने के लिए एलिवेटेड रोड (Elevated Road) का कांसेप्ट लाया गया है. अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त ग्रीन पार्क स्टेडियम (Green Park Stadium) चौराहा से घंटाघर (Ghantaghar) चौराहे तक अति व्यस्त रूट है, जिसपर 2.7 किलोमीटर की एलिवेटेड रोड बनाई जा सकती है. मंडलायुक्त की तरफ से एक समिति गठित कर इसकी फिजिबिलिटी रिपोर्ट मांगी गई है. माना जा रहा है कि इस रोड के बन जाने से आने वाले दिनों में लोगों को बड़ी राहत मिलेगी.  

एलिवेटेड रोड बनाने की तैयारी शुरू
कानपुर महानगर को भीषण ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए एलिवेटेड फ्लाईओवर की तैयारी की जा रही है. ग्रीन पार्क चौराहे से घंटाघर चौराहे तक एलिवेटेड रोड बनाने की तैयारी शुरू हुई है. भीषण जाम झेलने वाले कानपुर शहर के परेड चौराहे, नई सड़क, मूलगंज, हल्सी रोड होते हुए घंटाघर तक बनने वाले पुल की लंबाई 2.7 किलोमीटर होगी. कमिश्नर डॉ राजशेखर ने इसकी व्यावहारिकता दर्शाने वाली और लागत के आकलन के लिए 4 सदस्य कमेटी गठित कर जल्द ही रिपोर्ट मांग ली है.

एक घंटे में पूरा होता है 10 मिनट का सफर 
कानपुर शहर के सिविल लाइंस, परेड चौराहा, नई सड़क, मूलगंज, हालसी रोड, घंटाघर में भीषण जाम की समस्या है. शहर की एक बड़ी आबादी इन क्षेत्रों में जाम की वजह से अपना कीमती वक्त रोजाना खो देती है. जिन जगहों में महज 10 मिनट में पहुंच जाना चाहिए वहां एक एक घंटे लग जाते हैं. घंटाघर स्टेशन की तरफ तो पहुंचते-पहुंचते जाम में फंसे लोगों की ट्रेन भी छूट जाती है. बाजार का इलाके होने की वजह से लाटूश रोड, मेस्टन रोड पर दिनभर जाम की समस्या से लोगों को दो-चार होना पड़ता है. सिविल लाइंस एमजी कॉलेज चौराहे पर भी छुट्टी के समय भीषण जाम लगता है. इसी समस्या से पार पाने के लिए कमिश्नर की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय समग्र विकास समिति ने एलिवेटेड फ्लाईओवर की योजना बनाई है. 

जल्द सौंपी जाएगी रिपोर्ट 
एलिवेटेड फ्लाईओवर के लिए सड़क के बीचो बीच डिवाइडर पर पिलर बनाए जाएंगे. मंडलायुक्त ने जिस 4 सदस्य कमेटी को गठित किया है उसमें नगर आयुक्त शिवशरणप्पा, जीएन सेतु निगम के जीएम राकेश सिंह, पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता केसी वर्मा और उच्च स्तरीय समग्र विकास समिति के समन्वयक नीरज श्रीवास्तव शामिल हैं. अगले हफ्ते कमेटी मौके पर जाकर संयुक्त रूप से सर्वे करेगी जिसके बाद मंडलायुक्त को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. 

मूलगंज चौराहे से कनेक्टिविटी भी दी जाएगी
प्रस्तावित एलिवेटेड फ्लाईओवर को मूलगंज चौराहे से कनेक्टिविटी भी दी जाएगी. इसके लिए फ्लाईओवर पर मूलगंज चौराहे से लाटूश रोड की तरफ गर्डर स्थापित करते हुए चार पहिया और दो पहिया वाहनों की पार्किंग की संभावना तलाशी जाएगी. यहां गाड़ी खड़ी कर लोग सीढ़ियों, लिफ्ट या फिर एस्केलेटर से मूलगंज चौराहे पर उतर सकेंगे. यहां से लोग क्षेत्र की इलेक्ट्रिक, मशीन, कपड़ा, लोहा आदि थोक मंडियों तक आसानी से जा सकेंगे.

ये भी पढ़ें:  

UP School Reopen: छठी से आठवीं क्लास तक के खुले स्कूल, कोरोना प्रोटोकॉल का हो रहा है पालन 

देश में सभी राज्यों को पीछे छोड़ टॉप पर पहुंचा उत्तर प्रदेश, इस क्षेत्र में बना नंबर वन

Source link ABP Hindi