काबुल में अमेरिकी ड्रोन हमले को तालिबान ने बताया ‘मनमाना’, कहा- हमें क्यों नहीं बताया

US Drone Strike In Kabul: काबुल में रविवार को संदिग्ध आत्मघाती हमलावरों को निशाना बनाकर किए गए अमेरिकी ड्रोन हमले की तालिबान ने कड़ी आलोचना करते हुए इसे ‘मनमाना’ करार दिया है. तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह ने बिना किसी सूचना के हमले को लेकर अमेरिका की आलोचना करते हुए कहा कि इस दौरान आम नागरिकों की मौत हुई है.

रॉयटर्स के मुताबिक, तालिबान के प्रवक्ता ने चीन के सरकारी टेलीविजन चैनल सीजीटीएन से सोमवार का विदेशी धरती पर अमेरिकी कार्रवाई को गैर-कानूनी बताते हुए कहा कि इस हमले में सात लोगों की मौत हो गई है. सीजीटीएन को एक लिखित जवाब में मुजाहिद ने बताया- “अफगानिस्तान में अगर कोई संभावित खतरा था तो उसे हमें बताया जाना चाहिए था, मनमाने हमले नहीं करने चाहिए थे, जिसकी वजह से आम नागरिकों की मौत हुई है.”

पेंटागन के अधिकारियों ने कहा कि आत्मघाती कार हमलावर काबुल एयरपोर्ट पर हमले की तैयारी कर रहे थे, जहां पर अमेरिकी सैनिक अफगानिस्तान से वापसी को लेकर अंतिम चरण में है. उन्होंने बताया कि स्थानीय इस्लामिक संगठन आईएसआईएस-के की शह पर यह किया जा रहा था, जो पश्चिम और तालिबान दोनों का ही दुश्मन है.  

अमेरिकी सेंट्रल कमांड ने कहा कि वह रविवार को हुए ड्रोन हमला में मारे गए आम नागरिकों की जांच कर रहा है. उन्होंने कहा- हम जानते हैं कि गाड़ी को उड़ाने के बाद जोरदार विस्फोट हुआ था, जिससे यह जाहिर होता है कि बड़ी मात्रा में विस्फोटक सामग्री के कारण काफी हताहत हो सकते थे.”

शनिवार को भी जबीउल्लाह मुजाहिद ने अमेरिकी ड्रोन हमले को लेकर भी इसी तरह की आलोचना की थी, जिसमें नांगरहर प्रांत में दो इस्लामिक स्टेट के आतंकी मारे गए थे. उसने बताया था कि इस हमले में दो महिलाएं और एक बच्चा की मौत हो गई.

ये भी पढ़ें:

अमेरिका के जाने के बाद अफगानिस्तान का क्या होगा, नागरिकों की सुरक्षा कर पाएगा तालिबान?

तालिबान से असुरक्षा के चलते पलायन को मजबूर लोग, जानिए- अगले 4 महीनों में कितने लाख अफगानी देश छोड़ देंगे

Source link ABP Hindi