किसानों पर हरियाणा पुलिस का लाठीचारज, जानें क्या है मामला

करनाल: बीजेपी की आज विशेष बैठक आयोजित की गई थी जिसमें हरियाणा के मुखय मंत्री मनोहर लाल खटर व बीजेपी विधायक व मंत्री ओपी धनखड़ पहुंचे थे. उधर किसानों ने बसताड़ा टोल प्लाजा पर इक्कठे होकर बैठक के विरोध को लेकर रणनीति बनाई. जिसके बाद टोल प्लाजा पर किसानों पर लाठीचार्ज हुआ और कई किसान घायल हो गए.

बीजेपी की विशेष बैठक के विरोध का किसानों ने रात को ही आह्वान कर दिया था. पुलिस ने चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा कर दी थी, बेरिकेट्स लगाए थे.  पुलिस ने करनाल को किले में तब्दील कर दिया. सभी किसान बसताड़ा टोल प्लाजा पर इक्कठा होना शुरू होते हैं, प्रदर्शन करते हैं, सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हैं, एक-2 गाड़ियां जो बीजेपी के नेताओं की थी उन्हें रोकने का प्रयास किया जाता है, जिसके बाद किसान हाईवे पर ही जाम लगाकर बैठ जाते हैं.

पुलिस-किसान आमने सामने

उसके बाद पुलिस और किसान टोल प्लाजा पर आमने सामने हो जाते हैं और फिर लाठीचार्ज शुरू हो गई. किसानों के ऊपर लाठियां बरसाई गई है. कई किसान घायल हुए हैं कई को चोट लगी है. सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी जारी रहती है. किसानों का कहना है कि शांतिपूर्वक तरीके से विरोध किया जा रहा था फिर पुलिस ने लाठियां क्यों बरसाई.

करनाल के बसताड़ा टोल पलाजा पर  स्थिति तनावपूर्ण है. हर जगह पुलिस तैनात है. किसान नेता गुरनाम चढूनी ने भी वीडियो संदेश जारी करके ज़्यादा से ज़्यादा किसानों को सरकार के इस लाठीचारज के खिलाफ हरियाणा मे सब जगह हाईवे जाम करने को कहा हैय इस घटना के बाद हरियाणा मे कई जगह किसानो ने हाईवे जाम कर दिये है.

बीजेपी अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए, पंचायत चुनाव में पार्टी की रणनीति बनाने के लिए गांवों में पार्टी की छवि को सुधारने के लिए बैठक कर रही थी. तो दूसरी तरफ किसानों का ये विरोध सरकार के खिलाफ 3 कृषि कानूनों को लेकर था.

यह भी पढ़ें.

तमिलनाडु विधानसभा में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित, स्टालिन बोले- किसानों पर दर्ज मामले वापस होंगे

Chennai: भारतीय तटरक्षक बल के समारोह में पहुंचे राजनाथ सिंह, निगरानी पोत ‘विग्रह’ को सेवा में करेंगे शामिल

Source link ABP Hindi