क्या काल्पनिक है ’83’ में दिखाई गई Kapil Dev की धमाकेदार पारी?

Madanlal On ’83’: 1983 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य और फाइनल में तीन महत्वपूर्ण विकेट लेने वाले मदन लाल ने शनिवार को निर्देशक कबीर खान की फिल्म ’83’ की जमकर तारीफ की. उन्होंने उस दिन को याद करते हुए कहा कि इस फिल्म में कपिल देव के खेल को अच्छे से दर्शाया गया है, जहां उन्होंने 175 रन की शानदार नाबाद पारी खेली थी. 

फिल्म ’83’ में उनकी भूमिका निभाने वाले पंजाबी अभिनेता-गायक हार्डी संधू के बारे में बात करते हुए मदन लाल ने कहा कि उन्होंने फिल्म में शानदार किरदार निभाया है. मदन लाल ने कहा, “फिल्म शानदार है. कबीर खान ने शानदार काम किया है. सच में 38 साल के बाद यह खेल एक फिल्म के माध्यम से देखने को मिला, यह उस पल को फिर से जीने जैसा था.”

उन्होंने आगे कहा, “कपिल देव की 175 रन की नाबाद पारी भी बिल्कुल वैसी ही दिखाई गई है जैसा कि 1983 में वहां हुआ था. क्योंकि जब मैंने ट्यूनब्रिज वेल्स में ‘हरियाणा तूफान’ को एक्शन में देखा तो मैं वहां क्रीज पर नॉन-स्ट्राइकर छोर पर था.”

जिम्बाब्वे के खिलाफ खेलते हुए महान भारतीय ऑलराउंडर खिलाड़ी कपिल देव बल्लेबाजी करने आए थे, तब भारत पांच विकेट खोकर 17 रन पर था. कपिल ने सिर्फ 138 गेंदों में छह छक्कों और 16 चौकों की मदद से 175 रन बनाए थे. वनडे मैचों में उनके शीर्ष स्कोर से भारत आठ विकेट खोकर 266 रन पर था. 

ऑलराउंडर से क्रिकेट कोच और मीडिया विश्लेषक मदन लाल ने कहा, “यह पारी रिकॉर्ड नहीं की गई थी, लेकिन मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि फिल्म में जो कुछ दिखाया गया है, वह बिल्कुल सत्य है.” मदन लाल 1983 के विश्व कप के फाइनल में वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन विकेट लेने वाले खिलाड़ी बन गए थे. उन्होंने 1983 में शानदार प्रदर्शन किया था, क्योंकि उन्होंने आठ मैचों में 17 विकेट लिए थे.

लेकिन उन्होंने फाइनल के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ दिया था, जहां उन्होंने डेसमंड हेन्स, विवियन रिचर्डस और लैरी गोम्स के विकेट लिए. यहां रिचर्डस का आउट होना भारत की जीत की राह में निर्णायक मोड़ साबित हुआ.

Source link ABP Hindi