खंडहर में तब्दील हुई 5 करोड़ की लागत से बनी बिल्डिंग, सीएम योगी ने किया था उद्घाटन

Sonbhadra Government Inter College Building: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सोनभद्र (Sonbhadra) जिले के आदिवासी बहुल क्षेत्र में लगभग 5 करोड़ की लागत से निर्मित राजकीय इंटर कॉलेज (Government Inter College) गुरमुरा (कोटा) का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने उद्घाटन किया था. सीएम की तरफ से उद्घाटन करने के बाद भी यहां पठन-पाठन शुरू नहीं हो पाया है. 4 वर्ष से बंद पड़े कॉलेज की बिल्डिंग (Building) खंडहर में तब्दील होनी शुरू हो गई है. उद्घाटन के बावजूद भी कर्मचारियों, अधिकारियों की नियुक्ति ना होना शिक्षा विभाग (Education Department) के साथ साथ शासन, प्रशासन, सांसद और विधायक पर प्रश्न चिन्ह खड़े कर रहा है. ग्रामीणों की तरफ से बार-बार सांसद, विधायक और जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपने के बावजूद सुनवाई नहीं हुई है जिससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है. 

शुरू नहीं हो सकी है पढ़ाई
सर्व शिक्षा अभियान के तहत सपा सरकार के शासन काल में ही लगभग विद्यालय बनकर तैयार हो गया था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सोनभद्र दौरे पर इस कॉलेज का उद्घाटन किया गया पर शिक्षा विभाग की उदासीनता के कारण आज तक यहां सुचारू रूप से पढ़ाई शुरू नहीं हो सकी है. विभाग की तरफ से शिक्षकों की कमी दिखाकर विद्यालय को ना ही खोला गया है और ना संचालित किया जा रहा है.

देखभाल करने वाला कोई नहीं
स्थानीय ग्रामीण राम चन्द्र मौर्या ने बताया कि चार वर्ष पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस इंटर कॉलेज का उद्घाटन कर दिया था. कॉलेज 4 वर्षों से बनकर बंद पड़ा हुआ है. इसकी कोई देखभाल करने वाला नहीं है. लोग कॉलेज परिसर को नुकसान पहुंचा रहे हैं और पूरा कॉलेज परिसर जंगल में तब्दील होता जा रहा है. हम लोगों ने सांसद, विधायक, जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर विद्यालय खोले जाने की मांग कई बार की है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई है. कॉलेज के ना खुलने से आसपास के क्षेत्रों के बच्चों को काफी परेशानी हो रही है. मजबूरी के कारण प्राइवेट विद्यालय में एडमिशन लेना पड़ रहा है. 

कमियों को दूर करने का प्रयास करेंगे
वहीं, जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि संज्ञान में आया है. इस पर पूरी जानकारी कर के विद्यालय में जो कमी है उनको दूर करने का प्रयास करेंगे और जल्द विद्यालय को शुरू कर दिया जाएगा. स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और शिक्षा मंत्री डॉ दिनेश चंद शर्मा से मांग की है कि तत्काल विद्यालय को चालू कराया जाए जिससे आदिवासी क्षेत्र की छात्र-छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर सकें और सर्व शिक्षा अभियान के तहत छात्र-छात्राओं को लाभ मिल सके.

ये भी पढ़ें:  

Meerut Murder: बीती रात लापता हुए 2 बच्चों की निर्मम हत्या, परिवार में मचा कोहराम

Locked Toilet: बस अड्डे पर महिला शौचालय पर लगा ताला, अधिकारियों ने दी ये दलील

Source link ABP Hindi