खतरे के निशान के करीब बह रही है घाघरा, नदी के किनारे पर बसे गांव के लोगों में दहशत

haghra River Water Level Up: उत्तर प्रदेश के गोंडा में घाघरा नदी खतरे के निशान के आसपास बह रही है. 22 अगस्त से  तहसील कर्नलगंज के चंदापुर किटोली के पास नदी में कटान शुरू हो गया था. नदी की धार कटान इतनी तेजी से कर रही थी कि बांध के नजदीक पहुंच गया था. इस बात की जानकारी जब जिला प्रशासन को दी गई. जिसके बाद जिलाधिकारी के निर्देश पर उप जिला अधिकारी कर्नलगंज ने काम करना शुरू कर दिया. सिंचाई विभाग के अधिकारी जेसीबी और पोकलैन के सहारे बांध के बचाव कार्य में जुट गए.

पानी के किसी भी संभावित खतरे को देखते हुए गांव को खाली करने की बात की जाने लगी. हालांकि अब जिला प्रशासन गांव को सुरक्षित होने का दावा कर रही है वहीं स्थानीय लोग अपने आप को असहज महसूस कर रहे हैं. स्थानिय लोगों को का कहना है कि 3 दिनों से युद्ध स्तर पर हो रहे काम के कारण बांध को तो सुरक्षित कर लिया गया है लेकिन आगे के दिनों में जैसे ही फिर से जलस्तर बढ़ेगा तो बांध के लिए खतरा बना रहेगा.

बता दें कि करनैलगंज तहसील के चंदापुर कटैली गांव के सियाराम मजरे के पास 22 अगस्त को घाघरा नदी ने कटान शुरू कर दिया था. जिसके बाद वहां आसपास के गांवों में हडकंप मच गय. आसपास के गांव वालों को सुरक्षित स्थान पर जाने के लिए चेतावनी जारी कर दी गई.

घटना की जानकारी के बदा करनैलगंज के परगना अधिकारी बंध पर ही कैम्प करना शुरू कर दिया. प्रशासन ने युद्धस्तर पर तैयारी करते हुए मरम्मत का कार्य शुरू कर दिया. अब बांध को सुरक्षित होने से प्रशासन ने राहत की सांस ली है. हालांकि मरम्मती का कार्य जारी है.

Meerut News: मेरठ में धारदार हथियार गोदकर क्रूर तरीके से की युवक की हत्या, पेट में छोड़ दिया खंजर

Source link ABP Hindi