खुद को इनकम टैक्स ऑफिसर बताकर अपराधियों ने दुकान में की लूटपाट, सूट-बूट पहन कर पहुंचे थे बदमाश

गोपालगंज: बिहार के गोपालगंज में सोमवार को बेखौफ अपराधियों ने खुद को बिहार सरकार का अधिकारी बताकर ज्वेलरी की दुकानों में लूटपाट की. फुलवरिया और हथुआ थाना क्षेत्र की अलग-अलग दुकानों में लूटपाट करने के बाद अपराधी बाइक से फरार हो गए. इधर, लूटपाट की घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है. फुटेज से निकाली गई तस्वीर के आधार पर पुलिस अपराधियों की पहचान कर गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है. 

गहने लेकर फरार हो गए अपराधी

पहली घटना फुलवरिया थाने के कोयलादेवा बाजार स्थित आरके ज्वेलर्स नामक दुकान की है. सोमवार की सुबह करीब 10:00 बजे हथियार से लैश दो लुटेरे खुद को बिहार सरकार का अधिकारी बताकर दुकान में घुसे. दोनों लुटेरे ज्वेलर्स दुकान से गहना लेकर बाइक पर बैठ गए और तेज गति से कुसौंधी की तरफ भाग निकले, जिसके बाद डरे-सहमे दुकानदार शोरगुल करने लगे. शोर सुनकर लोगों की भारी भीड़ जुट गई. इसकी सूचना बाजार के व्यवसायियों ने स्थानीय पुलिस को दी. 

सूचना मिलने पर फुलवरिया थानाध्यक्ष अशोक कुमार और सहायक अवर निरीक्षक महेश मंडल ने पुलिस के साथ पहुंच कर मामले की छानबीन शुरू की. जांच पड़ताल के साथ-साथ दुकानदार से भी घटना के बारे में पूछताछ की. उसके बाद पुलिस ने ज्वेलर्स दुकान के समीप की दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगालना शुरू किया. इस दौरान सीसीटीवी फुटेज में लुटेरों की तस्वीरें मिलीं. पुलिस ने फुटेज से दोनों लुटेरों की तस्वीर की हार्ड कॉपी निकाल कर अन्य थानों के साथ ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू कर दी है. लोगों ने बताया कि ये लुटेरे पूर्व में नगर थाना क्षेत्र में भी लूटपाट कर चुके हैं. 

खुद को बताया इनकम टैक्स ऑफिसर 

दूसरी घटना हथुआ थाने के पुरानी किला स्थित सोने की दुकान में घटी. फुलवरिया में लूटपाट करने के बाद इनकम टैक्स ऑफिसर बनकर पहुंचे अपराधियों ने उक्त दुकान से डेढ लाख रुपये की ज्वेलरी लूट ली. स्वर्ण व्यवसायी शंकर सोनी ने बताया कि दोनों लुटेरे सफारी सुट पहन कर आए थे. दोनों अपराधियों ने आइकार्ड भी दिखाया. उसके बाद लॉकर से पांच सोने की चैन, अंगूठी आदि लूट ली.

इस तरह दिया चकमा

घटना के संबंध में आरके ज्वेलर्स के संचालक रंजन कुमार साह ने पुलिस को एक लिखित शिकायत सौंपी है, जिसमें उनके द्वारा बताया गया है कि एक बाइक पर सवार हथियार से लैश दो लोग आए और बोले कि हम दोनों बिहार सरकार के अधिकारी हैं. गहना दिखाओ जांच करना है. दुकान में मौजूद उनके पुत्र राहुल कुमार ने गहने देखने के लिए दोनों को दे दिया. लेकिन, दोनों लोग गहना को लेकर फरार हो गए. गहनों में कान का बाली 17 ग्राम, 5 अंगूठी और 5 लॉकेट सहित कुल 35 ग्राम सोना है.

यह भी पढ़ें –

बिहारः सुपौल में तीन दिनों से लगातार बढ़ रहा कोसी का जलस्तर, ऊंचे स्थानों पर शरण ले रहे लोग

प्यार तूने क्या किया! पटना में Facebook लाइव के बाद प्रेमी ने किया सुसाइड, जाते-जाते कहा- बाबू दवाई लेती रहना

Source link ABP Hindi