गोपाल मंडल के बयान से JDU-BJP के बीच मचा ‘घमासान’, भाजपा नेताओं ने की कार्रवाई की मांग

पटना: बिहार में एनडीए (NDA) घटक दल जेडीयू (JDU) और बीजेपी (BJP) के बीच फिर से तनाव बढ़ने लगा है. इस बार जेडीयू के बड़बोले विधायक गोपाल मंडल (Gopal Mandal) के बीजेपी नेता और डिप्टी सीएम तरकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasadk) के खिलाफ दिए गए आपत्तिजनक बयान से तल्खी आई है. गोपालपुर विधानसभा से जेडीयू विधायक गोपाल मंडल ने तारकिशोर प्रसाद पर वसूली करने का आरोप लगाकर खलबली मचा दी है. इधर, जब बीजेपी कोटा से पंचायती राज मंत्री बने सम्राट चौधरी (Samrat Chaudhary) ने इस पूरे मामले में जेडीयू से विधायक पर कार्रवाई की मांग की तो जेडीयू विधायक ने उन्हें दलबदलू बताते हुए औकात में रहने की नसीहत दी. 

गोपाल मंडल के बयान से आई तल्खी

एक तरफ जहां महाराष्ट्र में विरोधियों के बीच जुबानी जंग छिड़ी है, तो दूसरी तरफ बिहार में अपनों के बीच ही घमासान मचा हुआ है. भागलपुर के गोपालपुर से विधायक गोपाल मंडल ने अपने तीखे और आपत्तिजनक बयानों से बीजेपी और जेडीयू के रिश्तों में तल्खी ला दी है. गोपाल मंडल लगातार बिहार बीजेपी के सीनियर लीडर और डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद पर भागलपुर जाकर पैसों की वसूली करने का आरोप लगा रहे हैं. 

बता दें कि दो दिन पहले भागलपुर में अपने एक कार्यक्रम में तारकिशोर प्रसाद के नहीं आने और उनका विरोधियों के साथ भोजन करने से नाराज होकर गोपाल मंडल ने तारकिशोर प्रसाद पर 25 से 30 लाख रुपये की वसूली करने के लिए भागलपुर आने का आरोप लगाया था. गोपाल मंडल ने उन्हें डिप्टी सीएम पद से हटाने और वसूली की जांच कराने की बात भी कही थी.

बीजेपी नेताओं के बयान पर किया पलटवार

इस आरोप के बाद जब बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल और पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने मोर्चा संभाला और गोपाल मंडल के खिलाफ कार्रवाई करने की मुख्यमंत्री से मांग की तो भी गोपाल मंडल ने अपनी जुबान बंद नहीं की बल्कि एक बार फिर भागलपुर में डिप्टी सीएम पर 30 लाख रुपये की वसूली करने का आरोप दोहराया और कार्रवाई की मांग करने वाले बीजेपी के नेताओं के बयान पर भी पलटवार किया. 

गोपाल मंडल ने सम्राट चौधरी को दलबदलू बताते हुए कहा कि जिसमें चुनाव लड़ने का दम नहीं है वो क्या बोलेगा. वो औकात में रहें. वहीं, संजय जायसवाल के बारे में कहा कि वह कौन होता है हम पर कार्रवाई करने वाला, हम पर कार्रवाई होगी तो नीतीश कुमार करेंगे या पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह करेंगे. गोपाल मंडल ने कहा कि संजय जयसवाल ने जो कुछ भी कहा वह इसलिए कहा क्योंकि उनके पार्टी के डिप्टी सीएम की तौहीन मैंने की थी. गोपाल मंडल के लगातार हमले से बीजेपी के नेता काफी परेशान हैं.

बीजेपी के एमएलसी ने की थी बयानबाजी

कुछ दिन पहले बीजेपी के MLC टुन्ना पांडे ने नीतीश कुमार के खिलाफ बयानबाजी की थी और अपशब्दों का इस्तेमाल किया था. टुन्ना पांडे के बयान पर जेडीयू की तरफ से आपत्ति दर्ज करने के बाद बीजेपी ने टुंडा पांडे को निलंबित कर दिया था. अब बीजेपी के नेता भी टुन्ना पांडे मामले को याद दिलाते हुए जेडीयू से गोपाल मंडल के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं. गोपाल मंडल ने अपने बयानों से जदयू के लिए इससे पहले भी कई बार मुश्किलें खड़ी की हैं.

बीजेपी के दो और मंत्रियों ने गोपाल मंडल के खिलाफ कार्रवाई की नीतीश कुमार से मांग की है. बीजेपी नेता और पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन और भूमि और राजस्व मंत्री रामसूरत राय ने जेडीयू विधायक गोपाल मंडल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की. 

ऐसे लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए

पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि नीतीश कुमार अनुशासन के लिए जाने जाते हैं, पहले भी उन्होंने अनुशासन तोड़ने वालों पर कार्रवाई की है, आगे भी उम्मीद करेंगे कि जिस तरह से लगातार गोपाल मंडल शब्दों की मर्यादा को तोड़कर गठबंधन को हानि पहुंचाने के उद्देश्य से बयान दे रहे हैं तो उनकी मंशा स्पष्ट है. जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष से भी उम्मीद करेंगे कि वे कार्रवाई करेंगे. यदि कोई भी साक्ष्य उनके पास हो तो वह मुख्यमंत्री को दे सकते हैं. साक्ष्य के आधार पर जांच होनी चाहिए लेकिन जहां जांच विषय नहीं हो गठबंधन को हानि पहुंचाना विषय हो तो ऐसे लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए.

जबकि भूमि एवं राजस्व मंत्री रामसूरत राय ने कहा कि इसका बेहतर जवाब जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष देंगे, जिस आदमी को ज्ञान नहीं है, भोले बाबा के दरबार में गेट उखाड़ने लगते हैं, मुख्यमंत्री को ही कुछ कहने लगते हैं, इससे साफ समझ में आप लोग को आना चाहिए कि किस मानसिकता के लोग हैं. जेडीयू को विचार करना चाहिए.

जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष ने कही कार्रवाई की बात

इधर, जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा गोपाल मंडल के खिलाफ एक्शन लेने की बात कही. उमेश कुशवाहा ने कहा कि विधायक के बयान को पार्टी ने गंभीरता से लिया है और निश्चित रूप से पार्टी उसपर एक्शन लेगी. इस पर विधायक से स्पष्टीकरण की मांग भी की जाएगी, उसके बाद पार्टी उनपर एक्शन लेगी. ये उनका व्यक्तिगत बयान है, हमलोग पार्टी में एक अनुसाशन के तहत एक्शन लेंगे और जिस तरह से विधायक ने अपनी बातों को रखा है, इस तरह किसी को भी अपनी बात रखने का अधिकार नहीं है और अभी उन्होंने बयान दिया है तो हम उसे गंभीरता से लिया है और पार्टी उनसे स्पष्टीकरण मांगा है. उसके बाद कार्रवाई भी होगी.

यह भी पढ़ें –

Bihar Unlock-6 Guidelines: कोचिंग संस्थान के साथ सामान्य रूप से खुलेंगे धार्मिक स्थल, देखें कहां-कहां मिली छूट

बिहारः TTE ने मांगा टिकट तो लड़की ने दे दिया दिल, कानपुर से दिल्ली तक होती रहीं प्यार की बातें

Source link ABP Hindi