जब आप बिजली ही नहीं देते थे तो मुफ्त की बात कहां ? अखिलेश के वादे पर सीएम योगी का पलटवार

Uttar Pradesh Assembly Election 2022: उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव प्रचार में अब धार आती नजर आ रही है. वादों और दावों के दौर में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने आज यूपी में सरकार आने पर 300 यूनिट फ्री बिजली का दावा किया. वहीं मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने रामपुर में अखिलेश यादव के वादे पर निशाना साधा.

सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि कुछ देर पहले मैं पढ़ रहा था, बबुआ आज कुछ बोल रहे थे. वो सरकार आने पर मुफ्त में बिजली देनी की बात कर रहे थे. अरे जब आप बिजली  ही नहीं देते थे तो मुफ्त में बिजली कहां से दोगे? उल्टा जनता से जो  वसूली करते थे, उसके लिए माफी मांग लो. सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि यूपी में अब बिना भेदभाव के गरीब और अमीर दोनों के घरों में बिजली जलती दिखाई दे रही है.

सीएम योगी ने कहा कि रामपुर का चाकू कभी रक्षा के काम आता था, लेकिन समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की सरकार में दलितों की जमीन को जबरन हथियाने का माध्यम ये बन गया था. अगर अच्छे लोगों के पास शस्त्र होगा तो देश और धर्म की रक्षा के लिए उसका उपयोग करेगा अगर ग़लत लोगों के हाथों में होगा तो लूट खसोट, ग़रीबों की और दलितों की संपत्तियों पर कब्ज़ा करने में उसका दुरुपयोग करेगा. उन्होंने कहा कि, जिसने जैसे किया, उसको उसका फल भी दे दिया गया.

ये भी पढ़ें- Dharm Sansad Hate Speech: उत्तराखंड के डीजीपी का बयान- FIR में जोड़ा गया सागर सिंधु महाराज, यति नरसिंहानंद गिरी का नाम

सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि मुजफ्फरनगर के दंगाईयों को सीएम आवास में 2017 से पहले सम्मानित किया जाता था. अब सीएम आवास में गुरुवाणी और किसानों का सम्मान होता है. दोनों सरकारों के बीच ये फर्क है. आज बबुआ ने कहा कि हमारी सरकार होती, तब भी हम भव्य राम मंदिर बनवाते. अरे जब आपको क्रबिस्तान बनाने से फुरसत मिलती, तभी तो राम मंदिर के बारे में सोचते.

मुफ्त में क्या देंगे

रामपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभी आज समाजवादी पार्टी के बबुआ कह रहे थे कि मुफ्त बिजली देंगे, उनसे पूछा जाना चाहिए कि जब बिजली ही नही देते थे तो मुफ्त क्या देंगे, उल्टे भारी भरकम बिल थमा देते थे. सरकार ने हर व्यक्ति का अधिकार उसको दिया, पहले बिजली, शौचालय का पैसा कहां जाता था? आपने देखा होगा किस तरह पिछले दिनों जेसीबी से घरों से पैसा निकाला जा रहा है.

ये भी पढ़ें- UP Election 2022: ‘छापा समाजवादियों के यहां मारना था, मारा अपने लोगों पर’, रेड को लेकर अखिलेश यादव का केंद्र सरकार पर तंज

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आप देख सकते हैं ये कैसे लूटते थे. पहले नौकरियां निकलती थीं तो चाचा भतीजे का गैंग वसूली करने निकल जाते थे. भर्तियां रुक जाती थी, न्यायालय के स्टे लग जाता था, नौजवान ठगा रह जाता था. हमने साढ़े 4 लाख सरकारी नौकरियां दीं.

Source link ABP Hindi