जर्मनी में पिज्जा डिलीवरी कर रहे अफगानिस्तान के पूर्व IT मंत्री, तालिबान के डर से छोड़ा था देश

नई दिल्ली: अफगानिस्तान में तालिबान के खूनी एजेंडे से डरकर आम लोगों के साथ सत्ता के शिखर पर बैठे लोग भी देश छोड़कर भाग रहे हैं. अफगानिस्तान के पूर्व संचार मंत्री की एक ऐसी तस्वीर सामने आयी है, जिस पर यकीन करना मुश्किल है. पूर्व मंत्री सैयद अहमद शाह ने जर्मनी के लिपजिग शहर में शरण ली है, सद्दत यहां पिछले 2 महीने से पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय का काम कर रहे है. 

जब अफगानिस्तान में लोकतंत्र का राज था तो सैयद अहमद शाह सद्दत राजा थे तालिबान आया और सद्दत भागकर जर्मनी पहुंचे लेकिन रंक बनकर.तस्वीर देखकर यकीन करना मुश्किल है कि एक चारो और सुरक्षाकर्मियों के सख्त पहरे के बीच सूट बूट में रहने वाले सैयद अहमद शाह सद्दत आज पिज्जा डिलीवरी करने को मजबूर हैं.

2020 दिसंबर में ही सैयद अहमद शाह अफगानिस्तान छोड़कर जर्मनी के भाग आए थे.  सद्दत बेहद पढ़े लिखे भी हैं, उन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से कम्युनिकेशन में MScs किया है. साथ ही वो इलेक्ट्रिकल इंजीनियर भी हैं. सैयद अहमद शाह ने दुनियाभर के 13 बड़े शहरों में 23 साल अलग-अलग तरह का काम किया है. लेकिन शायद देश छूटा तो किस्मत ने भी साथ छोड़ दिया. इतना पढ़ लिखकर भी वो घर-घर पिज्जा पहुंचाने के लिए मजबूर हैं.

सैयद अहमद शाह सद्दत ने एक न्यूज एंजेंसी से बात करते हुए कहा कि शुरूआती दिनों में मुझे इस शहर में रहने के लिए कोई काम नहीं मिल रहा था क्योंकि मुझे जर्मन भाषा नहीं आती है. पिज्जा डिलवीर का काम फिलहाल मै सिर्फ जर्मन भाषा सीखने के लिए कर रहा हूं. इस नौकरी के जरिए मै शहर के अलग-अलग हिस्से में घूमकर लोगों से मिल रहा हूं ताकि आने वाले दिनों में खुद को निखारकर दूसरी नौकरी पा सकूं. 

अफगानिस्तान पर तालिबान के खूनी कब्जे के बाद पूर्व राष्ट्रपति सहित कई बड़े नेता अफगानिस्तान छोड़कर अलग-अलग देशों में शरण ले चुके है. लेकिन पहली बार किसी बड़े मंत्री का इस तरह से पिज्जा बेचने की तस्वीरें सामने आई है.

ये भी पढ़ें-
तालिबान ने अफगानी नागरिकों के देश छोड़ने पर लगाई पाबंदी, 5 साल अमेरिका की कैद में रहने वाले अब्दुल कय्यूम जाकिर बने रक्षा मंत्री

भारत-पाकिस्तान के बीच पिघल रही है रिश्तों में जमी बर्फ? 28 महीने बाद दोनों देशों ने जारी किया डिप्लोमैटिक वीजा

Source link ABP Hindi