टेक्सटाइल पर जीएसटी बढ़ोतरी का फैसला हुआ वापस, फुटवियर पर रोलबैक नहीं

GST Council Meeting Update: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता वाली जीएसटी काउंसिल ने कपड़ों पर जीएसटी की दरें बढ़ाने का फैसले को वापस ले लिया है. फिलहाल टेक्सटाइल पर जीएसटी में बढ़ोतरी नहीं की जाएगी. यानि टेक्सटाईल पर फिलहाल 5 फीसदी ही जीएसटी रेट लगता रहेगा.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैठक की जानकारी देते हुए कहा है कि टेक्सटाइल पर जीएसटी रेट की समीक्षा का मामला मंत्रियों के समूह को भेज दिया गया है. फरवरी 2022 तक कमिटी अपनी रिपोर्ट देगी. इसके बाद फरवरी या मार्च में जीएसटी काउंसिल की बैठक में मंत्रियों के समूह की सिफारिशों पर चर्चा की जाएगी. 

ये भी पढ़ें- Billionaires 2021: साल 2021 में अडानी समूह के गौतम अडानी ने बनाई मुकेश अंबानी से ज्यादा संपत्ति, जानें पूरी खबर

गुजरात के वित्त मंत्री की मांग पर हुई बैठक

वित्त मंत्री ने बताया कि इमरजेंसी नोटिस के तहत जीएसटी काउंसिल की बैठक बुलाई गई है. गुजरात के वित्त मंत्री ने पत्र लिखा था जिसमें सितंबर में जीएसटी काउंसिल की बैठक में टेक्सटाइल पर जीएसटी रेट बढ़ाने के फैसले पर फिर से विचार करने की मांग की गई थी. 

ये भी पढ़ें: Mobile Tariff in 2022: नए साल में सस्ते मोबाइल टैरिफ का दौर होगा खत्म, प्रीपेड के बाद पोस्टपेड कनेक्शन वालों को लग सकता है महंगे बिल का झटका!

टेक्सटाइल सेक्टर पर बढे़ जीएसटी को टालने पर हुई चर्चा

जीएसटी काउंसिल ने फैसला किया था कि एक जनवरी 2022 से टेक्सटाइल उत्पादों पर जीएसटी 5 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी किया जाएगा, लेकिन राज्य सरकारें और टेक्सटाइल इंडस्ट्री जीएसटी रेट बढ़ाने का विरोध कर रही थीं. लिहाजा आज की जीएसटी परिषद की बैठक में कपड़ों पर जीएसटी को 5 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी करने के फैसले को टालने पर चर्चा हुई और इसका फैसला ले लिया गया.

फूटवियर पर जीएसटी बढ़ोतरी के फैसले का रोलबैक नहीं

राज्य सरकारें और टेक्सटाइल कंपनियों के विरोध के चलते टेक्सटाइल पर तो जीएसटी में बढ़ोतरी के फैसले को वापस ले लिया गया है लेकिन फूटवियर पर जीएसटी में बढ़ोतरी के फैसले को बरकरार रखा गया है. यानि 1 जनवरी 2022 से 1,000 रुपये से ज्यादा कीमत वाले जूतों पर 12 फीसदी जीएसटी देना होगा. वित्त मंत्री ने बताया कि काउंसिल की बैठक में इस पर कोई चर्चा नहीं हुई. 

 

Source link ABP Hindi