टोक्यो पैरालंपिक में मरियप्पन थंगावेलु ने सिल्वर और शरद कुमार ने जीता ब्रॉन्ज मेडल

Paralympics 2020 High Jump: टोक्यो पैरालंपिक में भारतीय पैरा एथलीटों का शानदार प्रदर्शन जारी है. मंगलवार को ऊंची कूद में मरियप्पन थंगावेलु (Mariyappan Thangavelu) ने सिल्वर मेडल जीता, तो वहीं शरद कुमार (Sharad Kumar) ने ब्रॉन्ज मेडल जीतकर भारत का परचम लहराया है. रियो पैरालंपिक के स्वर्ण पदक विजेता थंगावेलु ने ऊंची कूद T42 स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता, जबकि शरद को इसी इवेंट में ब्रॉन्ज मिला. इसके साथ ही टोक्यो पैरालंपिक में भारत के पदकों की संख्या 10 तक पहुंच गई है. 

मरियप्पन ने 1.86 मीटर के प्रयास के साथ सिल्वर मेडल अपने नाम किया, जबकि अमेरिका के सैम ग्रेव ने अपने तीसरे प्रयास में 1.88 मीटर की कूद के साथ गोल्ड जीता. जबकि शरद ने 1.83 मीटर के प्रयास के साथ ब्रॉन्ज मेडल जीता. स्पर्धा में हिस्सा ले रहे रियो 2016 पैरालंपिक के कांस्य पदक विजेता वरुण सिंह भाटी 9 प्रतिभागियों में सातवें स्थान पर रहे. वह 1.77 मीटर की कूद लगाने में नाकाम रहे.

पीएम मोदी ने दोनों पैरा-एथलीटों को दी शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोनों एथलीटों को ट्वीट कर बधाई दी है. पीएम ने एक ट्वीट किया, “ऊंचे और ऊंचे उड़ते हुए ! मरियप्पन थंगावेलु निरंतरता और उत्कृष्टता का पर्याय हैं. रजत पदक जीतने पर उन्हें बधाई. भारत को उनके इस कामयाबी पर गर्व है.”

पीएम मोदी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “अदम्य शरद कुमार ने कांस्य पदक जीतकर हर भारतीय के चेहरे पर मुस्कान ला दी है. उनकी जीवन यात्रा कई लोगों को प्रेरित करेगी. उन्हें बधाई.”

भारत को अब तक 10 मेडल मिले 
टी-42 वर्ग में उन खिलाड़ियों को रखा जाता है, जिनके पैर में समस्या है और पैर की लंबाई में अंतर है. इसके अलावा मांसपेशियों की ताकत और पैर की मूवमेंट में समस्या है. इस वर्ग में खिलाड़ी खड़े होकर प्रतिस्पर्धा पेश करते हैं. इससे पहले मंगलवार को निशानेबाज सिंहराज अडाना ने पुरुष 10 मीटर एयर पिस्टल एसएफ1 स्पर्धा में कांस्य पदक जीता. भारत ने अब तक 2 स्वर्ण, 5 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं.

यह भी पढ़ेंः Dale Steyn Retirement: साउथ अफ्रीका के स्टार गेंदबाज डेल स्टेन ने क्रिकेट से संन्यास का किया ऐलान

Source link ABP Hindi