तालिबान के कब्जे के बाद दुनिया के नाम अफगानिस्तान के पत्रकारों ने लिखा ये खुला खत

Afghanistan Crisis: अफगानिस्तान पर तालिबान (Taliban) के कब्जे और उसके बाद लोगों पर हो रहे लगातार हमले ने हर किसी के अंदर खौफ पैदा करके रख दिया है. इस बीच, अफगानिस्तान के पत्रकार, कैमरामैन, फोटोग्राफर्स ने यूनाइटेड नेशंस (United Nations), अंतरराष्ट्रीय समुदाय, मानवाधिकार संगठनों (Human Rights Organisations) और मीडिया को समर्थन करने वाले संगठनों के नाम खुला खत लिखते हुए उनसे अपने लिए सुरक्षा की गुहार लगाई है.  

वहां के स्थानीय तुलु न्यूज़ के मुताबिक, यह पत्र शनिवार को प्रकाशित किया गया और इस पर 150 पत्रकारों के दस्तखत हैं. इस पत्र में यह कहा गया है, “मीडियाकर्मियों और उनके परिवारों की बढ़ती चुनौतियों और खतरों को देखते हुए हम यूनाइटेड नेशंस और अन्य देशों से यह अनुरोध करते हैं कि हमारी और हमारे परिवार की जिंदगी को बचाने के लिए कदम उठाएं.”

मीडियाकर्मियों ने कहा कि दुनिया को कदम पीछे खींचकर स्थिति को देखते हुए नहीं रहना चाहिए, बल्कि अफगानिस्तान के पत्रकारों की रक्षा के लिए कदम उठाना चाहिए, जिन्होंने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए पिछले दो दशकों से बिना रूके और थके काम किया है.

अहमद नाविद कावोश ने कहा- “इस मुश्किल घड़ी में दुनिया को बजाय देखने के कार्रवाई करते हुए हमारी और हमारे परिवारों की जान बचानी चाहिए.” एक अन्य पत्रकार रफीउल्लाह निकजाद ने कहा- “हम अनिश्चितता की स्थिति में रह रहे हैं. हम ये नहीं जानते हैं कि हमारे साथ और हमारे भविष्य के साथ क्या होगा. वैश्विक बिरादरी को अवश्य हमारी आवाज सुननी चाहिए.”  

ये भी पढ़ें:

US Drone Strike In Kabul: काबुल में अमेरिकी ड्रोन हमले को तालिबान ने बताया ‘मनमाना’, कहा- हमें क्यों नहीं बताया

Afghanistan Crisis: तालिबान राज में कलाकारों को बनाया जा रहा निशाना, दूसरे देशों में शरण लेने को हुए मजबूर, भारत से लगाई ये गुहार

Source link ABP Hindi