तालिबान ने अफगानी नागरिकों पर लगाई पाबंदी, अब्दुल कय्यूम जाकिर बने रक्षा मंत्री

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद से हजारों लोग देश छोड़ने की फिराक में है. इस बीच तालिबान ने अफगानी नागरिकों के देश से निकलने पर पाबंदी लगा दी है. काबुल एयरपोर्ट पर अब सिर्फ विदेशियों को ही जाने की इजाजत है. तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा है कि काबुल एयरपोर्ट पर भीड़ को इकट्ठा होने से रोकने और सुरक्षा के मद्देनजर अफगान नागरिकों को अब एयरपोर्ट पर जाने की अनुमति नहीं है. वहीं पांच साल तक अमेरिका की कैद में रहने वाले अब्दुल कय्यूम जाकिर को अफगानिस्तान का कार्यवाहक रक्षा मंत्री नियुक्त किया गया है.

तालिबान ने मंगलवार को चेतावनी देते हुए कहा कि अमेरिका द्वारा विमान के जरिए अफगानिस्तान से लोगों को ले जाने की कार्रवाई 31 अगस्त तक खत्म हो जानी चाहिए. इससे , पहले ही निकासी के लिए बना अफरा-तफरी का माहौल और गंभीर हो सकता है क्योंकि उत्पीड़न की नयी खबरों से देश छोड़कर जाने के इच्छुक हजारों लोगों की धड़कनें और बढ़ गई हैं.

तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि उनका समूह समय सीमा बढ़ाए जाने की बात नहीं स्वीकार करेगा और उसके बाद अफगानों को विमानों से निकासी की अनुमति नहीं दी जाएगी. देश में जनजीवन सामान्य हो रहा है लेकिन एयरपोर्ट पर अव्यवस्था की समस्या बनी हुई है. कई अफगान देश पर तालिबान का कब्जा होने के बाद बाहर भागने के लिए बेचैन हैं. निर्धारित समय के बाद एयरपोर्ट की सुरक्षा तालिबान अपने हाथ में ले लेगा. हालांकि उसने कहा कि अब तक स्पष्ट नहीं है कि काबुल से कब तक वाणिज्यिक उड़ानें बहाल होंगी. इस बीच व्हाइट हाउस ने मंगलवार सुबह बताया कि गत 24 घंटे के दौरान 21,600 लोग अफगानिस्तान से बाहर आए हैं. 

ये भी पढ़ें-
अफगानिस्तान में गहराते संकट के बीच तालिबान ने महिला सरकारी कर्मचारियों से अभी घर पर ही रहने को कहा, जानें वजह

31 अगस्त तक अफगानिस्तान से लोगों को सुरक्षित निकाल लिए जाने की उम्मीद: जो बाइडेन

Source link ABP Hindi