तेज प्रताप के ‘करीबी’ आकाश यादव LJP में हुए शामिल, तेजस्वी और जगदानंद सिंह पर लगाए गंभीर आरोप

पटना: हसनपुर विधायक तेज प्रताप यादव के करीबी माने जाने वाले आकाश यादव शुक्रवार को एलजेपी में शामिल हो गए. देश की राजधानी नई दिल्ली के एलजेपी केन्द्रीय कार्याल्य में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री पशुपति कुमार पारस और बिहार एलजेपी के अध्यक्ष और सांसद प्रिंस राज की उपस्थिति में छात्र आरजेडी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने अपने सैकड़ों समर्थकों और छात्र नेताओं के साथ एलजेपी का दामन थामा और सदस्यता ग्रहण की. 

खिलजी के सिद्धांत पर चलने लगी है आरजेडी

इस मौके पर मीडिया को संबोधित करते हुए आकाश यादव ने कहा कि 8 साल पहले जिस आरजेडी की सदस्यता मैंने ली थी वह गरीबों की पार्टी थी. जय प्रकाश, लोहिया की विचारधारा पर चलने वाली पार्टी थी. लेकिन आज आरजेडी वो आरजेडी नहीं, जहां गरीबों की सुनी जाती हो. यह दल अब अलाउद्दीन खिलजी के सिद्धांत पर चलने लगी है, जहां सत्ता और वर्चस्व के लिए किसी की भी बलि चढाई जा सकती है.

आकाश ने कहा कि आरजेडी में तेजस्वी यादव और जगदानंद सिंह के आतंक से सभी परेशान और प्रताड़ित हैं. तेजस्वी यादव को अब गरीबों और किसानों के पसीने से बदबू आने लगी है. उनको लगता है कि वो लालू यादव के नाम पर मुख्यमंत्री बन जाएंगे पर उनके इरादों को बिहार की जनता समझ चुकी है. 

तेज प्रताप से व्यक्तिगत संबंध

आकाश ने कहा, ” तेजस्वी यादव ने विधानसभा चुनाव के दौरान ही मुझे टॉरगेट कर लिया था. जब मैंने लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी की तस्वीर हटाने का विरोध किया था. लेकिन तेज प्रताप से व्यक्तिगत संबंध के कारण मैं राजद में बना रहा. जगदानंद सिंह ने कहा कि छात्र आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष आकाश यादव बने कब? मैं उनको बता देना चाहता हूं कि जब मैं छात्र आरजेडी का प्रदेशअध्यक्ष था ही नहीं तो चुनाव आयोग में मुझे छात्र आरजेडी का अध्यक्ष बता किसने स्टार प्रचारक बनवा दिया?”

आकाश ने कहा, ” अपने बेटे के राजनैतिक भविष्य के लालच में जगदानंद सिंह नहीं चाहते कि कोई गरीब का बच्चा आगे बढ़े. ऐसे में मैं केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस और सांसद प्रिंस राज का धन्यवाद करता हूं, जिन्होंने मुझे छात्र एलजेपी अध्यक्ष पद के लायक समझा. एलजेपी को मैंने इसलिए चुना क्योंकि जिस दल ने मेरे 7-8 वर्षों की मेहनत और संघर्ष को अपनी लड़ाई की वजह से एक पल में भूलकर मुझे पार्टी से बेदखल कर बेइज्जत कर निकाल दिया. मेरे उस मेहनत का मेहनताना एलजेपी ने दिया. अब हमलोग पटना में भव्य कार्यक्रम कराकर मिलन समारोह करेंगे और लोगों को पार्टी से जोड़ने का काम करेंगे.”

कार्यकर्ताओं से मजबूत होता है दल

आकाश यादव ने कहा, ” हम इस बंगले को समाजवाद के विचारधारा से सजाकर पशुपति पारस और प्रिंस कुमार के हाथों को मजबूत करने का काम करेंगे.” तेज प्रताप को एलजेपी में लाने की कोशिश करेंगे के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं एक छोटा सा कार्यकर्ता हूं और बतौर कार्यकर्ता पार्टी की ओर से मुझे जो दायित्व दिया गया है, वो मैं पूरा करुंगा. छात्रों को मैं पार्टी से जोड़ने का काम करूंगा. कार्यकर्ताओं से दल मजबूत होता है, नेताओं से नहीं.”

यह भी पढ़ें –

बड़ी खबर: तेज प्रताप यादव के ‘हनुमान’ आज LJP में होंगे शामिल, RJD के और कई नेताओं के नाम

बिहार: बुखार और उल्टी के बाद मुजफ्फरपुर में 2 बच्चों की हुई मौत, कई की स्थिति नाजुक

Source link ABP Hindi