दशहरे का त्योहार इस साल कब मनाया जाएगा, जानें विजय दशमी की कथा और शुभ मुहूर्त

Dussera (Vijaydashami)Date 2021: हिंदू धर्म में विजय दशमी पर्व (vijay dashmi festival) का काफी महत्व है. कहा जाता है कि इस दिन धर्म की अधर्म पर विजय हुई थी. इस दिन मां दुर्गा और भगवान राम की पूजा अर्चना की जाती है. पंचाग के अनुसार आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी के दिन विजय दशमी या दशहरा पर्व मनाया जाता है. इस साल दशहरा 15 अक्टूबर 2021, (dussera 15 october 2021) शुक्रवार को मनाया जाएगा. धार्मिक ग्रंथों के अनुसार इस दिन भगवान राम जी ने अत्याचारी रावण का वध किया था. वहीं, मां दुर्गा ने महिषासुर का अंत किया था और बुराई पर अच्छाई की जीत  हुई थी. इस दिन दूर्गा विसर्जन भी किया जाता है. दशमी से पहले 9 दिन तक माता के नवरात्रि रखे जाते हैं. इस दिन भगवान राम की पूजा-अर्चना करने से जीवन में सकारात्मकता आती है. इतना ही नहीं, इस दिन रावण का पुतला जलाने का विधान है.

विजय दशमी तिथि (vijay dashmi tithi)
विजय दशमी तिथि- 15 अक्टूबर 2021, शुक्रवार 
दशमी तिथि प्रारंभ- 14 अक्टूबर शाम 06:52
दशमी तिथि समापन-15 अक्टूबर 2021 शाम 06:02  
श्रवण नक्षत्र प्रारंभ: – 14 अक्टूबर 2021 सुबह 09:36
श्रवण नक्षत्र समाप्त: – 15 अक्टूबर 2021 सुबह 09:16

दशहरा पूजा मुहूर्त (Vijayadashami Muhurat)
पंचांग के अनुसार इस दिन यानि 15 अक्टूबर 2021 को दोपहर 02 बजकर 02 मिनट से 02 बजकर 48 मिनट तक विजय मुहूर्त रहेगा. दशहरा का पर्व दिवाली से ठीक 20 दिन पहले आता है.

दशहरा का महत्व (significance of dussera)
विजय दशमी के दिन भगवान राम की पूजा अर्चना की जाती है. इस दिन भगवान राम का नाम जपने से भक्तों की परेशानियां दूर हो जाती हैं. वहीं, इस दिन किसान नई फसलों का जश्न मनाते हैं. पौराणिक कथाओं के अनुसार, इस दिन हथियारों की पूजा भी की जाती है. योद्धा इस दिन हथियारों की पूजा करते हैं और ये करके वह अपनी जीत का जश्न मनाते हैं.

Janmashtami 2021: ये राशियां हैं कृष्ण भगवान को बेहद प्रिय, इन पर होती है विशेष कृपा, क्या आप भी हैं शामिल
Sheetala Saptami 2021: कल है शीतला सप्तमी, व्रत रखने से दूर होती है घर की बीमारियां, जानें मुहूर्त व पूजा विधि

 

Source link ABP Hindi