दिल्ली पुलिस कमिश्नर की नियुक्ति को चुनौती देने वाली जनहित याचिका कोर्ट का जानें रुख

दिल्ली हाई कोर्ट में दिल्ली के पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई के दौरान एक दिलचस्प बहस हुई. दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान राकेश अस्थाना की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका को ही चुनौती दे दी गई.

आरोप लगा कि जो याचिका दिल्ली हाईकोर्ट में दायर की गई है वह सुप्रीम कोर्ट में पहले दायर की गई याचिका की नकल है. साथ ही याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने वाले याचिकाकर्ता की बिना जानकारी के उस याचिका की कॉपी कर ली.

क्या प्रशांत भूषण ने आपकी याचिका की कॉपी की है? – कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट में इस मुद्दे पर याचिका दायरे करने वालों प्रशांत भूषण की तरफ से कहा गया कि हाइकोर्ट में जो याचिका दायर की गई है जिस पर आज सुनवाई होनी है वह असल में उनकी उस जनहित याचिका की कॉपी है जो उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी. हाईकोर्ट ने याचिका दायर करने वाले याचिकाकर्ता से पूछा कि क्या आप ने प्रशांत भूषण की याचिका की कॉपी की है. दूसरी याचिका दायर करने वाले याचिकाकर्ता के वकील ने कहा, जी नहीं. जिस पर कोर्ट ने पूछा तो फिर क्या प्रशांत भूषण ने आपकी याचिका की कॉपी की है.

कोर्ट में मौजूद केंद्र सरकार के वकील ने कहा कि दोनों याचिकाएं हुबहु एक जैसी है. यहां तक कि उनमें जो टाइपिंग के दौरान गलतियां हुई है वह भी एक समान है. केंद्र सरकार के वकील ने कहा कि अगर किसी दूसरे की याचिका को कॉपी कर कोई या कदर की जाती है तो यह धोखाधड़ी का भी मामला बनता है.

अगली सुनवाई 8 सितंबर को

प्रशांत भूषण ने कहा कि, “मैंने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की जिसके बाद उसकी कॉपी मीडिया में आई और उसी कॉपी के आधार पर दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई.” प्रशांत भूषण ने कहा कि, “मेरी आज का सुप्रीम कोर्ट में पहले से ही लंबित है और मैं इस पर हाईकोर्ट में सुनवाई नहीं चाहता. हाइकोर्टकोर्ट ने याचिका पर केंद्र को नोटिस जारी कर 8 सितंबर को होने वाली अगली सुनवाई तक जवाब देने को कहा है.”

यह भी पढ़ें.

Delhi Rain: दिल्ली एनसीआर में भारी बारिश के बाद मिंटो ब्रिज, ITO और मुनिरका में भरा पानी, सड़कों पर चलना हुआ मुश्किल

Source link ABP Hindi