देश के 17 राज्यों में ओमिक्रोन के अबतक 415 केस दर्ज, जानिए किस राज्य में क्या हैं हालात

Omicron in India: देश में जानलेवा कोरोना वायरस (Coronavirus) का खतरनाक वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron Variant) अब तेजी से पैर पसार रहा है. देश में अबतक इस वेरिएंट से 17 राज्य में 415 लोग संक्रमित हो चुके हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि इस वेरिएंट से संक्रमित 115 लोग ठीक हो चुके हैं. बड़ी बात यह है कि इस वेरिएंट से अबतक देश में एक भी मौत नहीं हुई है. जानिए ओमिक्रोन वेरिएंट की ताजा अपडेट क्या है और राज्यों में कैसे हालात हैं.

देश में ओमिक्रोन वेरिएंट के ताजा हालात

  • कुल मामले- 415
  • कुल रिकवरी- 115
  • कुल राज्य- 17

किस राज्य में कितने लोग संक्रमित

महाराष्ट्र- कुल मामले 108, रिकवरी 42

दिल्ली- कुल मामले 79, रिकवरी 23

गुजरात- कुल मामले 43, रिकवरी 5

तेलंगाना- कुल मामले 38, रिकवरी 8

केरल- कुल मामले 37, रिकवरी 1

तमिलनाडु- कुल मामले 34, रिकवरी 0

कर्नाटक- कुल मामले 31, रिकवरी 15

राजस्थान- कुल मामले 22, रिकवरी 19

हरियाणा- कुल मामले 4, रिकवरी 2

उड़ीसा- कुल मामले 4, रिकवरी 0

आंध्र प्रदेश- कुल मामले 4, रिकवरी 1

जम्मू कश्मीर- कुल मामले 3, रिकवरी 3

बंगाल- कुल मामले 3, रिकवरी 1

उत्तर प्रदेश- कुल मामले 2, रिकवरी 2

चंडीगढ़- कुल मामले 1, रिकवरी 0

लद्दाख- कुल मामले 1, रिकवरी 1

उत्तराखंड- कुल मामले 1, रिकवरी 0

राज्यों में पाबंदियां लगना शुरू

ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए दिल्ली (Delhi) और महाराष्ट्र (Maharashtra) समेत कई राज्यों ने अपने यहां पाबंदियां लगाना शुरू कर दिया है. वहीं, चुनावी राज्य उत्तर प्रदेश में आज से नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लागू हो जाएगा. नाइट कर्फ्यू का वक्त रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक होगा. ओमिक्रोन वेरिएंट को लेकर सबसे चिंता वाली बात ये है कि इसके लक्षण सामने नहीं आ रहे. देश में ओमिक्रोन के जिन 183 केसेस की एनालिसिस की गई, उसमें से 70 फीसदी संक्रमितों में इसके कोई लक्षण नहीं सामने आए थे.

सरकार ने सतर्कता कायम रखने को कहा

सरकार ने कहा कि विश्व कोविड-19 के चौथे उभार का सामना कर रहा है और ऐसे में हमें अपनी सतर्कता, खासकर साल के अंत में होने वाले उत्सवों के दौरान, बनाए रखने की आवश्यकता है. इसके साथ ही सरकार ने लोगों से भीड़भाड़ वाले स्थानों और अनावश्यक यात्रा से बचने का आग्रह किया और कोविड संबंधी उपयुक्त व्यवहार और जल्दी टीकाकरण पर जोर दिया. भारत में अभी तक मुख्य स्वरूप डेल्टा ही बना हुआ है.

Source link ABP Hindi