निशा के पिता का आरोप- कोच पवन बेटी से करता था छेड़खानी, पुलिस ने रखा 1 लाख रुपये का इनाम

Nisha Dahiya Death Case: हरियाणा के सोनीपत में रेसलर निशा दहिया(Nisha Dahiya) और उनके भाई की बुधवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई. अब इस पूरे मामले में हरियाणा पुलिस ने निशा के आरोपी कोच पवन और उसके साथी सचिन के पोस्टर जारी किए हैं. ASP मयंक गुप्ता ने कहा कि आरोपियों पर 1 लाख रुपये का इनाम रखा गया है. परिवार ने शिकायत में बताया है कि कोच पवन निशा दहिया के साथ छेड़छाड़ और अभद्रता करता था. 

निशा दहिया के पिता दयानंद दहिया सीआरपीएफ में इंस्पेक्टर हैं और वह श्रीनगर में तैनात हैं. जब कल उन्हें इस बात की जानकारी मिली तो वो सीधा यहां पहुंचे. दयानंद दहिया ने बताया कि कोच पवन ने निशा का ब्रेनवाश किया हुआ था. वह अक्सर पैसों की डिमांड करता था. उसने कई बार छेड़खानी और बदतमीजी भी की है. दयानंद दहिया ने कहा कि उन्होंने पवन को समझाया भी था और यह भी कहा था कि अगर वह नहीं सुधरा तो पुलिस से उसकी शिकायत करेंगे. 

पवन ने निशा को एकेडमी में बुलाकर हत्या की 

वहीं, निशा दहिया के चाचा जगदेव दहिया ने एबीपी न्यूज को बताया कि निशा दहिया की बुधवार को तबीयत ठीक नहीं थी. वह घर से दवाई लेने के लिए निकली थी. बीच रास्ते में ही एकेडमी पड़ती है, जहां कोच पवन ने निशा को बुला लिया. दोपहर 2 बजे के आसपास कोच पवन ने निशा की तबीयत खराब होने की बात कहकर उसके भाई और मां को भी एकेडमी में बुला लिया, जहां पर उसने पहले निशा और उसकी मां को गोली मारी. लेकिन जब निशा का भाई सूरज बचने के लिए भागा तो पवन के कुछ साथी ने करीब 500 मीटर तक उसका पीछा किया और फिर उसे भी गोली मार दी. 

जगदेव दहिया का कहना है कि कोच पवन उनके गांव का ही दामाद है. और उससे किसी तरह की कोई रंजिश नहीं थी, लेकिन कई बार वह पैसों की डिमांड करता रहता था और उसे कई बार थोड़ी-थोड़ी रकम भी दी गई. लेकिन किस वजह से पवन और उसके साथियों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया ये भी साफ नहीं है. 

गांव में बुलाई गई पंचायत 

इस पूरे मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए गुरुवार को गांव में पंचायत बुलाई गई, जिसमें फैसला लिया गया कि जब तक उनकी गिरफ्तारी नहीं होगी तब तक वह अपने बच्चों का दाह संस्कार नहीं करेंगे और हत्या आरोपियों पर पुलिस 5 लाख का इनाम भी रखे. इस मामले की जांच कर रहे सब इंस्पेक्टर रमेश चंद ने कहा कि हमें कल जानकारी मिली थी कि गांव हलालपुर में कोई झगड़ा हुआ है. मौके पर पहुंचने पर हमने पाया कि वहां पर निशा नाम की पहलवान, उसके भाई सूरज और उसकी मां धनपति को गोली मारी गई है, जिसमें निशा और उसके भाई सूरज की मौत हो गई जबकि उसकी मां का इलाज दिल्ली के एक निजी अस्पताल में चल रहा है. 

रमेश चंद ने कहा कि मां के बयान पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्यवाही की जा रही है. मां ने बताया है कि पवन कोच ने अपने साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है. शुरुआती जांच में निशा की मां ने बताया कि पवन उसकी बेटी के साथ छेड़खानी करता था जिसका वह विरोध कर रहे थे. 

वहीं अपने बेटे और बेटी को खो चुके सेना के जवान दयानंद दहिया ने बताया कि वह जम्मू-कश्मीर में सोपोर जिले में कम्युनिकेशन इंचार्ज के पद पर तैनात हैं. उन्हें कल सूचना मिली थी कि पवन ने पहले तो निशा को गोली हमारी और उसके बाद सूरज और उसकी मां को वहां पर बुलाया और उन्हें भी गोलियां मारी, जिसमें सूरज की भी मौत हो गई. 

ये भी पढ़ें- ED Raid: नवाब मलिक की बढ़ेंगी मुश्किलें, पुणे वक्फ बोर्ड जमीन घोटाले में 7 जगहों पर ED की छापेमारी

डॉक्टर Kafeel Khan की बर्खास्तगी पर प्रियंका गांधी ने दी प्रतिक्रिया, यूपी सरकार पर लगाए ये गंभीर आरोप

 

 

Source link ABP Hindi