नैनीताल में भूस्खलन से गर्ल्स हॉस्टल में आई दरार, छात्राओं को दूसरी जगह शिफ्ट किया गया

Nainital Landslide: उत्तराखंड के नैनीताल में गर्ल्स हॉस्टल के नीचे की जमीन खिसकने का भयावह वीडियो सामने आया है. वीडियो में पहाड़ी से टूटकर भारी भारी बोल्डर नैनीझील में गिर रहे हैं. इस घटना से तीन हॉस्टलों पर खतरा बन गया है, जिसके कारण इनमें से एक हॉस्टल में दरार आ गई है. हैरानी की बात ये है कि इतना सब होने के बावजूद प्रशासन का एक भी आदमी घटनास्थल पर नहीं गया है.

नैनीताल में पूरब मुखी पहाड़ी में कुमाऊं विश्वविद्यालय की भूमि में डिग्री कॉलेज के नीचे तीन गर्ल्स हॉस्टल बने हैं. जिनमें से केपी और एसआर हॉस्टलों के बीच में 2012 में नया भवन बना है जिसे केपी हॉस्टल का बी ब्लॉक कहा जाता है. भूस्खलन से इस हॉस्टल में दरारें आ गई हैं. इसमें 39 छात्राएं रहती हैं जो कोविड के कारण घर गई हैं और इनमें से कुछ लड़कियां यहां एग्जाम के कारण लौट आई हैं.

हॉस्टल की वार्डन ने बताया कि कुछ वर्ष पहले भी इस क्षेत्र में हल्का भूस्खलन हुआ था, जो पिछले हफ्ते से लगातार भयावह रूप लेता जा रहा है. बीती रात और मंगलवार सुबह यहां लगातार भूस्खलन हुआ, जिससे यहां का मलबा नैनीझील में समा गया और इसका एक वीडियो भी सामने आया है. वीडियो में पहाड़ी से बड़े-बड़े पत्थरों को झील में गिरते साफ देखा जा सकता है. 

वार्डन ने बताया की खतरे की जद में खड़े हॉस्टल से आनन फानन में छात्राओं को दूसरी जगह शिफ्ट किया गया है. इस पूरी घटना की जानकारी उन्होंने अपने डी.एस.डब्ल्यू. देव सिंह बिष्ट और डायरेक्टर एल.एम.जोशी को दी जो मंगलवार सुबह प्रभावित क्षेत्र में आए. इसके अलावा मैडम ने बताया कि जिला प्रशासन को भी इसकी जनकारी दे दी गई थी लेकिन वो अभी तक मौके पर नहीं आए हैं. यहां छात्राओं के छठे सैमिस्टर के एग्जाम होने हैं जिसके लिए छह छात्राएं आई हुई हैं. तीनों हॉस्टलों में कुल 216 छात्राएं हैं.

इसे भी पढ़ेंः

Sufi Islamic Board के राष्ट्रीय प्रवक्ता का दावा, देश के 10 राज्यों में संचालित हो रही हैं आतंकी गतिविधियां

Shivpal Yadav News: शिवपाल सिंह के रथ पर लगाई गई मुलायम सिंह की तस्वीर, देखें- कितना आलिशान है रथ

यह भी देखेंः

Source link ABP Hindi