पूर्व कोच रवि शास्त्री ने बताई 2019 में विश्व कप हारने की वजह, सेलेक्टर्स पर भी उठाए सवाल

ICC World Cup: भारतीय टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने विश्व कप 2019 में भारतीय टीम की हार की वजह का खुलासा किया है. इसके साथ ही शास्त्री ने भारतीय टीम के सेलेक्शन प्रोसेस को लेकर भी सवाल उठाए हैं. उन्होंने बताया कि पिछले वनडे विश्व कप में भारतीय टीम को किस वजह से हार का सामना करना पड़ा. रवि शास्त्री ने टीम के सेलेक्शन में बड़े बदलाव का सुझाव दिया है. चलिए जान लेते हैं कि शास्त्री ने किन बड़ी बातों को लेकर अपनी राय जाहिर की है.

टीम सेलेक्शन से खुश नहीं थे रवि शास्त्री

रवि शास्त्री ने एक स्पोर्ट्स चैनल से बातचीत के दौरान बताया कि साल 2019 के वर्ल्ड कप के लिए जिस टीम का चयन किया गया था, उससे वह खुश नहीं थे. भारतीय टीम में तीन विकेटकीपर बल्लेबाजों महेंद्र सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत को जगह दी गई थी. कुछ परिस्थितियों की वजह से तीनों ही खिलाड़ियों को सेमीफाइनल में खिलाना पड़ा और टीम ने मैच गंवा दिया. रवि शास्त्री के मुताबिक सेलेक्शन के दौरान इसमें कुछ बदलाव किए जा सकते थे.

Ashes 2021: टेस्ट क्रिकेट में इतिहास रचने के बावजूद Joe Root की कप्तानी पर क्यों लटकी तलवार? देखें आंकड़े

इन खिलाड़ियों को जगह न मिलने से निराश थे 

रवि शास्त्री ने कहा कि इन तीन विकेटकीपर बल्लेबाजों की जगह भारतीय टीम में अंबाती रायुडू या श्रेयस अय्यर को जगह दी जा सकती थी, लेकिन सेलेक्टर्स ने ऐसा नहीं किया. रवि शास्त्री का मानना है कि अगर इन खिलाड़ियों में से किसी को जगह मिलती तो नतीजा कुछ और हो सकता था. 

Ross Taylor Records: क्रिकेट में इस मुकाम तक पहुंचने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं Ross Taylor, पढ़ें उनके खास रिकॉर्ड

बताया कौन से बदलाव होने चाहिए 

रवि शास्त्री ने कहा कि टीम सेलेक्शन के दौरान कोच और कप्तान की राय लेना बेहद जरूरी होता है. खासतौर से जब आप के कोच को लंबा अनुभव हो. वर्तमान में राहुल द्रविड़ काफी अनुभवी हैं. रवि शास्त्री ने यह भी माना कि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान कभी भी चयनकर्ताओं के काम में दखलंदाजी नहीं की, जब तक कि उनसे फीडबैक नहीं मांगा गया. गौरतलब है कि इसी साल टी20 विश्वकप के बाद रवि शास्त्री का हेड कोच के तौर पर कार्यकाल खत्म हो गया. वे करीब 7 साल तक टीम इंडिया के कोच रहे.

Source link ABP Hindi