बरेली की जिला जेल में धूमधाम से मनाया गया भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव

Krishna Janmashtami in Bareilly District Jail: प्रभु श्रीकृष्ण का जन्म जेल में हुआ था इसलिए बरेली की जिला जेल में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव इस बार बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है. यहां पर बन्दी सांस्कृतिक कार्यक्रम कर रहे हैं. यहां जेल में बंदी राधा-कृष्ण बनकर भजनों पर नृत्य कर रहे हैं और राधा-कृष्ण की लीला का मंचन कर रहे हैं.

भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के मौके पर बरेली के बिथरी चैनपुर स्थित जिला जेल में राधाकृष्ण की लीलाओं का मंचन कोई रंगकर्मी नहीं बल्कि जेल में बंद बन्दी कर रहे हैं. जिन्होंने राधाकृष्ण की बड़ी ही मनमोहक लीलाओ का मंचन किया. जेल कारागार में बने सभागार में जेल अधीक्षक विजय विक्रम सिंह ने बंदियो की ओर से राधाकृष्ण की लीलाओं का मंचन करवाया.

इस दौरान जेल में बंदी और अधिकारियों ने बंदियो की ओर से की जा रही लीलाओं को देखा और कलाकारों की उत्साहवर्धन किया. वहीं जेल अधीक्षक विजय विक्रम सिंह ने बताया कि “तपोभूमि समझो इसे मत समझो कारागार, योगेश्वर श्रीकृष्ण ने यहां लिया अवतार.” उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली कारागार रही है इसलिए कारागार में जन्माष्टमी बड़ी धूमधाम से मनाई जा रही है. यहां कैद बन्दियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया और सोमवार शाम को बंदी झांकियां बनाई. 

इस मौके पर बरेली में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर कटरा मानराय स्थित विश्व प्रसिद्ध चुन्ना मिया मंदिर जिसे लक्ष्मी नारायण मंदिर भी कहते है, राजेन्द्र नगर स्थित बांके बिहारी मंदिर, मॉडल टाउन स्थित हरि मंदिर, रामपुर गार्डन स्थित आनंद आश्रम, प्रेम नगर स्थित त्रिवटी नाथ मंदिर और पुलिस लाइन को दुल्हन की तरह सजाया गया. बरेली के ये सभी बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है और शाम के वक्त इन मंदिरों में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ जेखी गई. फिलहाल कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए सभी मंदिरों में होने वाले कार्यक्रमो को स्थगित कर दिया गया. वैसे इन मंदिरों में छोटे छोटे बच्चे श्रीकृष्ण और राधा बनकर रासलीला करते हैं. 

गौरतलब है कि जेल को सुधार गृह कहा जाता है और बरेली की जिला जेल के जेल अधीक्षक विजय विक्रम सिंह ने जेल को सच मे सुधार गृह बनाने का प्रयास किया है. इससे पहले जेल में रामलीला का मंचन कैदियों ने किया था. इसके अलावा जेल में बंद बंदियों ने रक्षाबन्धन पर अपनी बहनों को गिफ्ट में देने के लिए मास्क बनाये थे.

इसे भी पढ़ेंः

Janmashtami 2021: मथुरा में सीएम योगी बोले- पहले हिन्दुओं के त्योहारों पर बंदिशें लगाई जाती थीं लेकिन अब कोई बंदिश नहीं है

Janmashtami 2021: अनोखा है ये बुटीक, यहां दुल्हन की तरह सजाएं जाते है लड्डू गोपाल, जानें- सबसे बड़ी खासियत

यह भी देखेंः

Source link ABP Hindi