बसपा सांसद पर रेप की FIR कराने वाली युवती की मौत, सुप्रीम कोर्ट के सामने किया था आत्मदाह

BSP MP Atul Rai Case : बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) के सांसद अतुल राय (Atul Rai) पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता आखिरकार मौत से हार गई. उसने दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में दम तोड़ दिया. न्याय की उम्मीद लेकर दर-दर भटक रही पीड़िता ने अपने दोस्त सत्यम के साथ 16 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के गेट पर खुद को आग लगा ली थी. उसका आरोप था कि वाराणसी पुलिस (Varanasi Police) सांसद और उसके रिश्तेदारों से मिलकर उसे प्रताड़ित कर रही है. पीड़िता के दोस्त और रेप की घटना के एकमात्र गवाह सत्यम की शनिवार को ही मौत हो गई थी.

सांसद पर लगाया था रेप का आरोप

रेप पीड़िता और उसका दोस्त सत्यम नई दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती थे. पीड़िता ने मई 2019 को घोसी से बसपा के सांसद अतुल राय पर रेप का आरोप लगाते हुए वाराणसी में केस दर्ज कराया था. अतुल राय फिलहाल जेल में बंद है. नवंबर 2020 में सांसद अतुल राय के भाई ने पीड़िता व उसके दोस्त सत्यम के खिलाफ हनीट्रैप और वसूली के आरोप में वाराणसी में एफआईआर दर्ज कराई थी. इसी महीने वाराणसी की कोर्ट ने पीड़िता के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी किया था. कोर्ट ने पीड़िता और उसके दोस्त के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया था. एकता का कहना था कि वह बलिया में अपने घर पर ही मौजूद थी जो कि वाराणसी पुलिस ने उसे गायब बताकर कोर्ट को गुमराह किया और गैर जमानती वारंट जारी करा दिया.

सुप्रीम कोर्ट के सामने खुद को आग के हवाले किया था

वारंट जारी होने के बाद पीड़िता अपने दोस्त सत्यम के साथ दिल्ली पहुंची जहां दोनों ने फेसबुक लाइव करते हुए सुप्रीम कोर्ट के सामने खुद को आग के हवाले कर दिया. फेसबुक लाइव के दौरान पीड़िता ने सांसद अतुल राय और उनके रिश्तेदारों के साथ ही वाराणसी के एसएसपी अमित पाठक, योगेश, दरोगा संजय राय और पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर समेत अन्य पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगाए थे. पीड़िता का कहना था कि उसे न्याय की अब कोई उम्मीद नहीं है इसीलिए वह जान देने जा रही है. 

इस मामले में एसएसपी अमित पाठक को हटाने के साथ ही कई पुलिसकर्मियों के निलंबन की कार्रवाई की गई थी. आत्मदाह के दौरान पीड़िता और उसका दोस्त सत्यम 85 प्रतिशत झुलस गए थे. दोनों की हालत गंभीर थी. शनिवार को सत्यम और मंगलवार को पीड़िता ने भी दम तोड़ दिया. इस बीच जेल में बंद सांसद अतुल राय ने कोर्ट को एक प्रार्थनापत्र देकर रेप के मामले की फिर से जांच कराने की मांग की है.

ये भी पढ़ें.

DA Hike in Uttarakhand: मुख्यमंत्री धामी का मास्टर स्ट्रोक, फ्रीज़ हुआ डीए 11 फीसदी बढ़ोत्तरी के साथ देने का ऐलान

Source link ABP Hindi