बाढ़ के बाद बिगड़े हालात, प्लास्टिक की छत डालकर रहने को मजबूर हैं लोग

Ballia Flood: उत्तर प्रदेश के बलिया (Ballia) जिले में बाढ़ (Flood) का पानी भले ही काफी कम हो गया है और जिला प्रशासन राहत की सांस ले रहा है. मगर इस बीच बाढ़ प्रभावित इलाकों में बाढ़ पीड़ितों की परेशानी बढ़ती जा रही है. बैरिया तहसील क्षेत्र के उदईछपरा गांव में गंगा नदी (Ganga River) का पानी घुस जाने से कई लोगों के घर तबाह हो चुके हैं. कई घर गिरने की हालत में हैं जिसकी वजह से लोग सड़क किनारे प्लास्टिक की छत डालकर रहने को मजबूर हैं. 

सीएम ने दिया था अधिकारियों को निर्देश 
प्रशासन के अधिकारी या जनप्रतिनिधि कोई भी इनका हाल पूछने तक नहीं आया है. जबकि, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेंक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मीडिया ब्रीफिंग में पीड़ितों की सुरक्षा समेत हर संभव मदद करने का आला अधिकारियों को निर्देश दिया था. बावजूद इसके बाढ़ पीड़ित प्लास्टिक की छत के नीचे जीने को मजबूर हैं.

नहीं मिली है मदद
पीड़ितों की मानें तो प्रशासन या विधायक या ग्राम प्राधान की तरफ से कोई मदद नहीं मिली है. यहां तक कि घर पानी में गिर जाने के बाद लोग अपने पैसे से प्लास्टिक खरीदकर इसके सहारे ही बरसात में गुजरा करने को लाचार हैं. विधायक की तरफ से 10 दिनों के लिए लंगर की व्यवस्था की गई थी. 4 लीटर मिट्टी तेल मिला है, जनरेटर भी अब हटा दिया गया है. लोग अंधेरे में रहने को मजबूर हैं. प्रशासन की तरफ से राशन भी नहीं मिला है. पानी के लिए दूर जाना पड़ता है. घर पानी में गिर गया है, मुश्किल हालात हैं लेकिन कोई मदद नहीं मिल रही है.
 
सीएम योगी ने दिए थे निर्देश 
बलिया में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद मीडिया ब्रीफिंग में कहा था कि पीड़ितों को 10 किलो चावल, 10 किलो आटा, 10 किलो आलू, 10 किलो सूखा चना इसके अलावा मसाले, नमक, मोमबत्ती और प्रभावित क्षेत्रों में केरोसिन की भी व्यवस्था हो. जहां पर केरोसिन उपलब्ध ना हो वहां प्रशासन से पेट्रोमैक्स की व्यवस्था करने को कहा गया था. सीएम ने जनरेटर से विद्युत आपूर्ति के भी निर्देश दिए थे. फूड पैकेट या ताजा भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने की बात कहते हुए सीएम योगी ने राहत शिविरों में महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा के लिए शिविरों में महिला आरक्षी तैनात करने करने के भी निर्देश दिए थे. 

ये भी पढ़ें: 

BSP Enlightened Conference: बीएसपी नेता सतीश चंद्र मिश्रा का बड़ा दावा- 2022 में हमारी पार्टी बनाएगी पूर्ण बहुमत की सरकार

Kalyan Singh News: राम मंदिर के मुख्य मार्ग का नाम कल्याण सिंह रखने पर साधु-संतों में खुशी, सरकार से की अब ये मांग

Source link ABP Hindi