बिहार में कितने लाख लोगों को पहली और दूसरी डोज नहीं लगी? देखें आंकड़ों की जुबानी

पटनाः कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाने के मामले में शुक्रवार को बिहार ने 10 करोड़ डोज का आंकड़ा पार कर लिया है. इस दस करोड़ के आंकड़े में पहली और दूसरी दोनों डोज शामिल है. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय (Mangal Pandey) ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि बिहार ने टीकाकरण में 10 करोड़ डोज के आंकड़े को पार कर लिया है.

मंगल पांडेय ने कहा कि दस करोड़ वैक्सीनेशन की जानकारी देते हुए उन्हें खुशी हो रही है. इस मौके पर उन्होंने राज्य की जनता और सभी स्वास्थ्य कर्मियों को बधाई दी और आभार जताया. आइए आंकड़ों के जरिए समझते हैं कि बिहार में कितनों लोगों को पहली डोज लगी, कितनें लोगों को दूसरी डोज लगी और कितने लोग अभी भी वैक्सीन लेने से वंचित हैं.

यह भी पढ़ें- Happy New Year 2022: नए साल पर भी राजनीति! जीतन राम मांझी ने लिखा- ‘जय भीम’, पढ़ें नीतीश कुमार और अन्य नेताओं के संदेश

एक नजर में आंकड़ों को देखकर समझें

कितने लोगों को लगी सिर्फ पहली डोज- 5,78,17,020

कितने लोगों को लगी दूसरी डोज- 4,22,88,170

बिहार में कुल वैक्सीनेशन- 10,01,05,190

देश में कुल टीकाकरण- 1,45,16,24,150

(यह सारे आंकड़े 31 दिसंबर 2021 तक के हैं)

आंकड़ों पर नजर डालें तो बिहार में 31 दिसंबर 2021 तक कुल 10,01,05,190 लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है. इसमें पहली और दूसरी दोनों डोज शामिल है. वर्ष 2021 तक अनुमानित जनसंख्या 13 करोड़ के आसपास माना गया है. ऐसे में बिहार में अभी भी तीन करोड़ के करीब ऐसे लोग हैं जिन्हें वैक्सीन नहीं लगी है.

16 जनवरी से शुरू हुआ था वैक्सीनेशन

देश में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीन लगाने की शुरुआत की गई थी. पहले स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंट लाइन वर्करों को वैक्सीन दी गई. उसके बाद 60 से अधिक उम्र वाले लोगों को, फिर 45 से अधिक उम्र वाले लोगों को और फिर 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले सभी को वैक्सीन देने की घोषणा की गई. अब कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए 15-18 साल के बच्चों को भी वैक्सीन देने की घोषणा की गई है.   

यह भी पढ़ें- Happy New Year 2022: रानी चटर्जी के ठुमके पर झूम उठा पटना, भोजपुरी और बॉलीवुड गीतों के साथ हुआ मुजरा

Source link ABP Hindi