मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले में इंदौर सबसे आगे, जानें पॉटिजिटव केस

 Madhya Pradesh News:  इंदौर में एक बार फिर कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता नजर आ रहा है. बुधवार को भी स्वास्थ विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के आधार पर संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है. देर रात जारी हुए मेडिकल बुलेटिन के आधार पर इंदौर में 55 नए कोरोना संक्रमित मरीज सामने आए हैं.

सख्त कदम उठा रहा है प्रशासन 

दरअसल तीसरी लहर की आशंका के चलते प्रशासन जहां लगातार सख्त कदम उठा रहा है. वहीं शहर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है. बुधवार को इंदौर स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के आधार पर इंदौर में 55 नए मरीज सामने आए हैं वहीं लगातार विभाग द्वारा सैम्पलिंग की जा रही है. इंदौर में लगातार बढ़ते संक्रमित मरीजों को लेकर प्रशासन सख्त है, वहीं बढ़ते आंकड़े अब शहर में चिंता का विषय बन रहे हैं. प्रशासन लोगों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की भी अपील कर रहा है लेकिन देखा यह जा रहा है कि लोग बिना मास्क के ही घूम रहे हैं.

25 से ज्यादा बच्चे संक्रमित 

दिसंबर का ऐसा एक भी दिन नहीं गया जिस दिन कोरोना वायरस का एक भी केस सामने नहीं आया हो. पिछले 1 सप्ताह में पौने दो सौ के आसपास मरीज सामने आ चुके हैं. 25 से ज्यादा बच्चे संक्रमित हो चुके हैं, स्वास्थ विभाग व्यवस्थाएं दुरुस्त करने पर युद्ध स्तर में जुटा हुआ है लेकिन जमीनी स्तर पर कोरोना की गाइड लाइन का पालना नहीं हो पा रहा है. चालानी कार्रवाई के लिए जिला प्रशासन ने निर्देश दे दिए हैं 

लेकिन आपको कहीं भी मास्क को लेकर चलानी कार्रवाई होती नजर नहीं आएगी, यह महज औपचारिकता है,  कुछ चिन्हित स्थान पर सैनिटाइजर का छिड़काव किया जा रहा है लेकिन भीड़ भाड़ इलाकों में बिना मास्क बेखौफ घूम रहे लोगों को रोकने टोकने वाला कोई नहीं है, जितनी जिम्मेदारी प्रशासन और स्वास्थ विभाग का है उतनी ही जिम्मेदारी अब आम जनता की है. हमें अब खुद को रोको टोको अभियान का हिस्सा बनना होगा. 

क्या हैं इंतजाम

फिलहाल इंदौर के बाजारों के जो हाल है उसको देखकर ऐसे ही लगता है कि लोग दूसरी लहर की तस्वीर को लोग भूल चुके हैं लोगों के मन के अंदर से कोरोना का डर खत्म हो चुका है, बेहद जरूरी हो जाता है अगर यह चूक ऐसे ही करते रहे तो संभावित तीसरी लहर अब ज्यादा दूर नहीं है,क्योंकि इंदौर में अब केस रोजाना तीन गुने होने लग गए हैं. वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ विभाग 10,000 से अधिक कोविड बेड और 700 से अधिक बेड राधास्वामी कोविड केयर सेंटर में बनाए जा रहे हैं, 46 से ज्यादा ऑक्सीजन प्लांट को दुरुस्त किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें :

MP Minister on Kalicharan: महात्मा गांधी को अपशब्द कहने वाले कालीचरण को मंत्री ने दी नसीहत, बोले जो गलती करेगा भुगतेगा
 Panchayat Chunav: मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव के लिए लगी आचार संहिता हुई समाप्त

Source link ABP Hindi