मुस्लिम युवक को ‘जय श्री राम’ के नारे लगाना पर समुदाय के बहिष्कार का करना पड़ा सामना

UP News: उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में 2 दिसंबर को एक 22 वर्षीय किसान अहसान राव को जय श्री राम के नारे लगाना भारी पड़ गया. उसका कम्यूनिटी ने बायकॉट ही कर दिया है. दरअसल अहसान ने सीएम योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की एक संयुक्त रैली में भाग लिया था. उस दौरान उसने बैरिकेड्स पर चढ़ कर “भारत माता की जय” और “जय श्री राम” के नारे लगाए थे. वहीं टोपी पहने अहसान का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद उसके लिए घर से निकलना मुश्किल हो गया.

रैली के दौरान जोश में आकर लगाए थे जय श्री राम के नारे

वहीं अहसान का कहना है कि उसे श्री राम के नारे लगाने पर कोई अफसोस नहीं है. उसने कहा कि, “मैं रैली के दौरान माहौल की वजह से काफी जोश में भर गया था. जिसके बाद मैंने भी ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने शुरू कर दिये, इस दौरान मैंने ध्यान नहीं दिया कि कोई इसे रिकॉर्ड कर रहा है.”

बचपन के दोस्त ने फोन कर रिश्ता तोड़ा

अहसान ने बताया कि सबसे पहले उसके बचपन के दोस्त ने उसे फोन कर  कहा कि कि उनके बीच सभी संबंध टूट गए हैं. बाद में, उसके चाचा और चचेरे भाइयों ने भी उसका बहिष्कार कर दिया. जल्द ही, अहसान को गैर-इस्लामिक होने का आरोप लगाते हुए धमकी भरे कॉल आने लगे.

हसान की सुरक्षा में तैनात किया गया है गनर

वहीं टीओआई में छपी रिपोर्ट के मुताबिक सहारनपुर के एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि अहसान की सुरक्षा के लिए पिछले हफ्ते एक गनर तैनात किया गया था, क्योंकि बाद में दावा किया गया था कि उसकी जान को खतरा है.

ये भी पढ़ें

Stampede at Vaishno Devi Temple : वैष्णो देवी मंदिर में मची भगदड़, 6 श्रद्धालुओं की मौत, कई जख्मी

Chhattisgarh News: नक्सलियों ने फिर एक युवक को उतारा मौत के घाट, जानिए क्या है वजह

 

 

Source link ABP Hindi