यूपी में जारी है ‘बुलडोजर’ वाली सियासत, मंत्री बोले- समझ सकते हैं अखिलेश यादव की पीड़ा 

Dr Mahendra Singh Attack on Akhilesh Yadav: एक तरफ तो उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में योगी सरकार ने ऑपरेशन नेस्तनाबूद (Operation Nestanabud) चला रखा है, जिसमें अवैध संपत्तियों (Illegal Properties) पर बुलडोजर (Bulldozer) चलाया जा रहा है तो वहीं यूपी में बुलडोजर की लेकर सियासत (Politics) भी शुरू हो गई है. कल अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि सरकार को अपना चुनाव चिन्ह बुलडोजर कर लेना चाहिए. इस पर जवाब देते हुए आज सरकार ने गाजियाबाद (Ghaziabad) में डेढ़ सौ करोड़ की जमीन अवैध कब्जे से मुक्त कराई. इस पर जल शक्ति मंत्री डॉक्टर महेंद्र सिंह (Dr Mahendra Singh) का कहना है कि पिछली सरकारों ने जमीनों पर अपने लोगों के माध्यम से कब्जा कराया है और इससे उत्तर प्रदेश की छवि पूरे देश में खराब हुई. हमने संकल्प लिया है कि सरकारी जमीन (Government Land) खाली होनी चाहिए.

अखिलेश यादव की संकुचित मानसिकता है
जल शक्ति मंत्री डॉक्टर महेंद्र सिंह ने कहा कि अभी तक सिंचाई विभाग ने 3000 हेक्टेयर जमीन अवैध कब्जे से मुक्त कराई है. उत्तराखंड में भी कुछ जमीन है उसे भी मुक्त कराएंगे. वहीं, अखिलेश यादव के बयान पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव की संकुचित मानसिकता है और उनको जो पीड़ा हो रही है उसे मैं समझ सकता हूं. क्योंकि, किसी को संरक्षण देकर उन्होंने जमीनों पर कब्जा कराया था. अब जमीन खाली हो रही तो उनको दुख पहुंच रहा है. 

सरकार की जमीन वापस ली जाएगी
डॉक्टर महेंद्र सिंह ने कहा कि ये योगी सरकार है, इसमें किसी पर रहम नहीं किया जाएगा. सरकार की जमीन वापस ली जाएगी. जनता जनार्दन ने स्टेरिंग घुमा दिया है. 2014 में घुमाया, 2017 में घुमाया, 2019 में घुमाया, उपचुनाव में घुमाया, पंचायत चुनाव में घुमाया और अब 2022 में भी जनता मन बना चुकी है. 350 सीटों पर बीजेपी जीतेगी. 

ये भी पढ़ें: 

UP Election 2022: कांग्रेस प्रत्याशी बनने के लिए जमा करने होंगे 11 हजार रुपये, लल्लू बोले- ये सहयोग राशि

‘चचाजान’ पर भड़की AIMIM, कहा- मुजफ्फनगर दंगे के वक्त कहां छिपे थे राकेश टिकैत?

Source link ABP Hindi