रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा- मैं लखनऊ का सेवक, यहां का यातायात सुधारने का है सपना

Defense Minister Rajnath Singh In Lucknow: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं लखनऊ का सेवक हूं और लखनऊ हिंदुस्तान का नंबर वन शहर बने, सिर्फ यही चाहता हूं. अगर योगी आदित्यनाथ यूपी के मुख्यमंत्री न होते तो शायद मैं लखनऊ के लिए इतना काम न कर पाता. उन्होंने विकास कार्यों की निगरानी के लिए उपमुख्यमंत्री केशव मौर्या का भी आभार जताया. राजनाथ सिंह ने कहा लखनऊ के लिए मेरा एक सपना है कि यहां पर यातायात व्यवस्था सुगम हो. उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से यात्रा यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए अपने तेवर दिखाने की बात कही. रक्षा मंत्री ने कहा कि लखनऊ में हर साल वाहन बढ़ रहे हैं. लखनऊ के चारों तरफ सड़क बनाने का प्रोजेक्ट शुरू किया गया था लेकिन ठेकेदारों की लापरवाही की वजह से काम बहुत धीमा है. उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से 2022 तक सड़क का काम पूरा कराने की उम्मीद जताते हुए कहा कि वह अपना तेवर दिखा दें तभी काम जल्दी होगा. चौक में बनने वाले विक्टोरिया पुल से उन्होंने जनता का वक्त बचने और जाम से छुटकारा मिलने की बात कही.

पोस्टर में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी का फोटो न होने पर जताया दुख

रक्षा मंत्री ने लखनऊ में जगह-जगह पर लगे पोस्टरों में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई का चित्र न होने पर दुख जताया. उन्होंने कहा कि पिछली बार भी जब वह लखनऊ आए थे तो एयरपोर्ट पर पोस्टर लगे देखे, लेकिन किसी में भी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई का फोटो नहीं था. अटल जी ने लखनऊ को पहचान दी. वहां से सांसद रहे और विकास कार्य में लखनऊ को सबसे आगे रखा. उन्होंने पोस्टरों में अटल बिहारी का चित्र सबसे ऊपर लगाने की बात कही.

कोरोना में अनाथ हुए बच्चों की सहायता दिल को छू गई

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की खुलकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि 2 दिन पहले वह एक कार्यक्रम में तमिलनाडु गए थे. वहां उत्तर प्रदेश में विकास कार्यों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की गई. उनके विरोधी कुछ भी कहें लेकिन अगर इमानदारी से विश्लेषण किया जाए तो उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ ने बहुत काम कराया है. खासकर कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों की सरकार ने जिस तरह से सहायता की, वह उनके दिल को छू गई. यह छोटी बात नहीं है. ऐसा काम वही मुख्यमंत्री कर सकता है जो संवेदनशील हो. उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा के संसाधन कम हैं और प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल न हो पाने से ग्रामीण क्षेत्र के युवा पिछड़ गए थे. उनकी सहायता के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अभ्युदय योजना के तहत शहरी क्षेत्रों में कोचिंग शुरू कराई जहां युवाओं को निशुल्क शिक्षा दी जाएगी. इसी तरह अपराध पर मुख्यमंत्री ने काफी अच्छा काम किया जिससे प्रदेश में सुशासन आया. रक्षा मंत्री ने कहा कि केंद्र में मोदी जी और यूपी में योगी जी ने आम जनता की बेहतरी के लिए कई योजनाएं शुरू कराई. उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्रालय का डीआरडीओ यूपी में मिसाइल बनाने के लिए उपक्रम शुरू करेगा. डीआरडीओ की फैक्ट्री लखनऊ में लगेगी जिससे 5000 लोगों को नौकरी मिलेगी. इसके लिए मुख्यमंत्री ने एक रुपए लीज पर जमीन भी उपलब्ध करा दी है.

रक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री में राजधानी होती 1710 करोड़ों रुपए की सौगातें 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चौक स्थित ज्योतिबा फुले मल्टीलेवल पार्किंग स्थल पर आयोजित समारोह में राजधानी को 1710 करोड़ रुपए की सौगातें दी. स्मार्ट लखनऊ स्मार्ट प्रदेश योजना के तहत रक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री ने 180 विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया. इसमें फैजाबाद रोड से सुल्तानपुर रोड तक तैयार किसान पथ और चौक फ्लाईओवर समेत एक मल्टीलेवल पार्किंग स्थल, कई सड़कें और अस्पताल शामिल हैं.

राजधानी में कराए जा रहे हैं सभी विकास कार्य नगर निगम, एलडीए, लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम, सिंचाई विभाग निर्माण निगम, अमृत योजना और स्मार्ट सिटी योजना के हैं. मंगलवार दोपहर करीब 1 बजे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एयरपोर्ट से सीधे चौकी क्षेत्र समारोह स्थल पहुंचे जहां उनके स्वागत के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और डॉक्टर दिनेश शर्मा, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा समेत स्वामी प्रसाद मौर्य और मेयर संयुक्ता भाटिया ने उनका स्वागत किया. 

रक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री ने चौक में चरक अस्पताल के पास ढाई किलोमीटर लंबे फ्लाईओवर का लोकार्पण किया. इस फ्लाईओवर के बनने से नक्खास, कश्मीरी गेट समय पुराने लखनऊ के विभिन्न इलाके में रहने वाले लाखों लोगों को फायदा होगा और सड़क जाम की समस्या से छुटकारा मिलेगा. उन्होंने 271 करोड रुपए की लागत से बन रहे किसान पथ के फैजाबाद रोड से सुल्तानपुर रोड तक के हिस्से का भी लोकार्पण किया. समारोह में 3 प्राथमिक, एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व 50 बेड के मदर एंड चाइल्ड केयर हॉस्पिटल का लोकार्पण किया गया. डीएम कार्यालय में पार्किंग स्थल समेत कई सड़कों और नालों के निर्माण कार्य के भी लोकार्पण हुए.

Shivpal Yadav News: शिवपाल सिंह के रथ पर लगाई गई मुलायम सिंह की तस्वीर, देखें- कितना आलिशान है रथ

Source link ABP Hindi