रामपुर में मंत्री को लोगों ने कार से उतारकर कीचड़ भरी सड़क पर चलाया

Rampur Minister Faces Public Protest: रामपुर में अगर विकास की बात की जाए तो ज्यादातर विकास मंत्री बलदेव सिंह औलख (Baldev Singh Aulakh) की विधानसभा बिलासपुर (Bilaspur Assembly) में हुआ है, लेकिन विकास के इन दावों की जमीनी हकीकत कुछ और ही है. बीते दिन जब मंत्री बलदेव सिंह औलख एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे तो रास्ते में कीचड़ भरी सड़क से गुजरना पड़ा. जहां उन्हें स्थानीय लोगों ने घेर लिया और उनकी गाड़ी रोककर उन्हें सड़क के खस्ता हाल दिखाने के लिए गाड़ी से उतारकर सड़क का मुआयना कराया, जिसके बाद शर्मिंदगी महसूस करते हुए राज्यमंत्री कार्यक्रम में पहुंचे और नगर पालिका ईओ की क्लास लगा दी.

नाराज लोगों ने कार से उतारा 

दरअसल, राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख अपनी विधानसभा के स्वास्थ्य समुदायिक केंद्र ( सरकारी अस्पताल) एक ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिलिंग प्लांट के उद्घाटन में पहुंचे थे. इस बीच उन्हें रास्ते में लोगों ने रोककर सड़क की बदहाली से रूबरू कराया, इतना ही नहीं लोगों ने उन्हें कार से उतरने को मजबूर कर दिया और कार से उतारकर सड़क पर घुमाया, जिसके बाद कार्यक्रम में पहुंचे. राज्य मंत्री ने नगर पालिका ईओ की लापरवाही पर मंच से बोलते हुए खरी-खोटी सुनाई.

अधिकारियों पर भड़के मंत्री

राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख ने मंच से बोलते हुए लापरवाह अधिकारियों को मोटी चमड़ी वाला कहकर अपनी शर्मिंदगी को छुपाया. उन्होंने कहा कि ,मेरे कुछ भाई यहां खड़े थे, मैं उनसे तो कुछ नहीं कह सकता. बहुत सारे नालायक आदमी हैं यहां पर, जिनको कहने के बावजूद भी मोटी चमड़ी को कोई असर नहीं होता. उन्होंने इस मामले में जिलाधिकारी से बात करने की भी बात कही. जिसके बाद जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के भ्रमण बाद, नगर पालिका की ईओ को जमकर फटकार लगाई.

जिलाधिकारी ने कहा-कार्रवाई होगी

जिलाधिकारी रविंद्र कुमार मांदड़ ने इस मामले में बताया कि, ईओ नगर पालिका की कार्यक्षमता उचित नहीं है. मैंने पहले भी उनको लिखित रूप में और मौखिक रूप में वार्निंग दी है. जब से मैं जनपद में आया हूं, मैंने लगातार बिलासपुर का भ्रमण किया है, तो बहुत उचित व्यवस्था यहां पर नहीं मिली है. प्रदेश सरकार की मंशा है और निर्देश है कि जितने भी हमारे अस्पताल हैं वहां लिंक रोड अच्छी होनी चाहिए. यह खराब श्रेणी में है और कहने के बाद भी नहीं करना बड़ी लापरवाही है इस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें.

Child Labour: बाल मजदूरी करने वाले बच्चों की लिए किसी मसीहा से कम नहीं हैं सिपाही रिंकी सिंह, CM ने किया सम्मानित

 

Source link ABP Hindi