राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अयोध्या दौरे को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, जानें- पूरा कार्यक्र

President Ramnath Kovind Ayodhya Visit: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) के अयोध्या (Ayodhya) दौरे को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. राष्ट्रपति कल सुबह 11:30 बजे प्रेसीडेंशियल स्पेशल (Presidential Train) ट्रेन से अयोध्या पहुंचेंगे. सबसे पहले राष्ट्रपति राम कथा पार्क (Ram Katha Park) में रामायण कॉन्क्लेव (Ramayana Conclave) का उद्घाटन करेंगे और सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेंगे. 

मंदिर निर्माण का लेंगे जायजा 
राम कथा पार्क में ही यात्री निवास पर राष्ट्रपति अयोध्या की प्राचीनता धार्मिकता पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन भी करेंगे. 2:00 से 3:00 बजे तक राष्ट्रपति हनुमानगढ़ी (Hanumangarhi) और राम जन्मभूमि (Ram Janmabhoomi) का दर्शन करेंगे. राम जन्मभूमि परिसर में ही दर्शन के बाद वृक्षारोपण करेंगे और निर्माणाधीन मंदिर का जायजा लेंगे. 3:40 पर अयोध्या रेलवे स्टेशन (Ayodhya Railway Station) पर राष्ट्रपति की वापसी होगी और वो 3:50 पर प्रेसिडेंशियल स्पेशल ट्रेन से लखनऊ के लिए रवाना होंगे.

सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम
राष्ट्रपति के आगमन को देखते हुए अयोध्या में सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं. लगभग 3000 पुलिसकर्मियों की ड्यूटी राष्ट्रपति के आगमन को लेकर लगाई गई है. राष्ट्रपति रेलवे स्टेशन से सबसे पहले राम कथा पार्क जाएंगे. राम कथा पार्क से महामहिम हनुमानगढ़ी और फिर राम जन्मभूमि जाएंगे. इसके बाद राष्ट्रपति वापस रेलवे स्टेशन आएंगे. 

फुलप्रूफ प्लान तैयार
राष्ट्रपति की सुरक्षा को लेकर पुलिस ने फुलप्रूफ प्लान तैयार किया है. रेलवे स्टेशन से राम कथा पार्क और राम कथा पार्क से राम जन्मभूमि. राम जन्मभूमि से फिर वापस रेलवे स्टेशन आने वाले मार्गों पर रिहर्सल किया जा रहा है. कई बार पूर्वाभ्यास कई बार किया गया है. इस बात का भी खास ध्यान रखा जा रहा है कि राष्ट्रपति के आगमन सुरक्षा के लिहाज से किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है और उससे कैसे निपटा जाए. इसी को लेकर पूर्वाभ्यास किया गया है. 

रेलवे स्टेशन से राम कथा पार्क जाएंगे राष्ट्रपति
राष्ट्रपति के फ्लीट के आवागमन के लिए पूर्वाभ्यास किया गया है. फ्लीट की कमान संभाल रहे डीएसपी सदर आरके चतुर्वेदी ने बताया कि फ्लीट को अयोध्या रेलवे स्टेशन से राम कथा पार्क के लिए प्रस्थान कराया जाएगा. फ्लीट को राम कथा पार्क से हनुमानगढ़ी और फिर राम जन्मभूमि ले जाया जाएगा. इसके बाद राम जन्मभूमि से वापस रेलवे स्टेशन लाया जाएगा. 

रिहर्सल किया जा रहा है
आरके चतुर्वेदी ने बताया कि शहर में रोड पर जगह कम है इसलिए बार-बार रिहर्सल किया जा रहा है जिससे मार्ग में पड़ने वाली चुनौतियों से निपटा जा सके. ऐसी व्यवस्था की जा रही है जिससे किसी को भी असुविधा का सामना ना करना पड़े. संपूर्ण मार्ग पर इस तरीके से ड्यूटी लगाई जाएगी जिससे राष्ट्रपति की फ्लीट से किसी को दिक्कत ना हो. पूर्वाभ्यास कर मार्गों में पढ़ने वाले कट, मोड़, खास गलियां और छत इन सब पर सुरक्षा के लिहाज से फोकस किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

Chardham Yatra 2021: चारधाम यात्रा बंद होने से पर्यटन स्थलों की यात्रा कर रहे सैलानी, प्रकृति का ले रहे हैं आनंद

Balrampur Rain: 150 गांव राप्ती नदी के पानी से घिरे, बढ़ता जा रहा है तटबंध टूटने का खतरा 

Source link ABP Hindi