राहुल गांधी ट्विटर पर फिर हुए एक्टिव, मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए NMP का बताया मतलब

Rahul Gandhi Back on Twitter: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ट्विटर पर एक बार फिर सक्रिय हो गए हैं. उन्होंने आज ट्वीट कर NMP के मुद्दे पर मोदी सरकार को निशाने पर लिया और इसे ‘राष्ट्रीय मित्रिकरण योजना’ बताया. सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राष्ट्रीय मौद्रिकरण पाइपलाइन (एनएमपी) की घोषणा की थी. इसको लेकर कांग्रेस हमलावर है.

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ”राष्ट्रीय ‘मित्रि’करण योजना. रोड, रेल, एयरपोर्ट, बिजली, गैस, पेट्रोल, माइन, स्टेडियम, गोदाम.” इससे पहले उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 70 साल में जनता के पैसे से बनी देश की बहुमूल्य संपत्तियों को अपने कुछ उद्योगपति मित्रों को बेच रहे हैं.

राहुल गांधी ने कहा, ‘‘इन संपत्तियों को बनाने में 70 साल लगे हैं और इनमें देश की जनता का लाखों करोड़ों रुपये लगे हैं. अब इन्हें तीन-चार उद्योगपतियों को उपहार में दिया जा रहा है.’’

राहुल गांधी ने कहा, ‘‘ हम निजीकरण के खिलाफ नहीं है. हमारे समय निजीकरण विवेकपूर्ण था. उस समय रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण संपत्तियों का निजीकरण नहीं किया जाता था. जिन उद्योगों में बहुत नुकसान होता था, उसका हम निजीकरण करते थे.’’

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को छह लाख करोड़ रुपये की राष्ट्रीय मौद्रिकरण पाइपलाइन (एनएमपी) की घोषणा की थी. इसके तहत यात्री ट्रेन, रेलवे स्टेशन से लेकर हवाई अड्डे, सड़कें और स्टेडियम का मौद्रिकरण शामिल हैं. सरकार का कहना है कि इन बुनियादी ढांचा क्षेत्रों में निजी कंपनियों को शामिल करते हुए संसाधन जुटाये जायेंगे और संपत्तियों का विकास किया जायेगा.

निजी निवेश हासिल करने के लिए चेन्नई, भोपाल, वाराणसी और वडोदरा सहित भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण (एएआई) के करीब 25 हवाई अड्डे, 40 रेलवे स्टेशनों, 15 रेलवे स्टेडियम और कई रेलवे कॉलोनी की पहचान की गयी है. इन्हें निजी क्षेत्र के निवेश से विकसित किया जायेगा.

ट्विटर पर वापसी

राहुल गांधी ने छह अगस्त को आखिरी बार ट्वीट किया था. इसके बाद उन्होंने आज ट्वीट किया है. दरअसल, राहुल गांधी ने दिल्ली में रेप और हत्या मामले की पीड़िता बच्ची के माता-पिता से मुलाकात की तस्वीर ट्विटर पर साझा की थी. इस मामले में चार अगस्त को राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने ट्विटर से कार्रवाई की मांग की थी.

इसके बाद ट्विटर ने राहुल गांधी का ट्वीट हटा दिया और अकाउंट को भी लॉक कर दिया. इसके बाद कांग्रेस नेताओं ने ट्विटर को निशाने पर लिया. विवाद बढ़ने पर ट्विटर ने करीब एक हफ्ते बाद 14 अगस्त को राहुल गांधी का अकाउंट एक्टिव कर दिया. इसके बाद भी राहुल गांधी ट्वीट नहीं कर रहे थे. 

NMP Issue: राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, स्मृति ईरानी ने किया पलटवार, पढ़ें बड़ी बातें

 

Source link ABP Hindi