ललन सिंह ने चिराग पासवान और तेजस्वी यादव की मुलाकात पर दी प्रतिक्रिया, जानें क्या कहा

पटना: बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) और जमुई सांसद चिराग पासवान (Chirag Paswan) की मुलाकात के बाद सूबे का सियासी पारा चढ़ गया है. जब से दोनों युवा नेताओं के मुलाकात की तस्वीर सामने आई है, तब से कयासों का दौर शुरू हो गया है. मौजूदा राजनीतिक स्थिति में दोनों नेताओं की मुलाकात के बाद तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. इधर, सत्ताधारी दल के नेता पूरे प्रकरण पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं.

मुस्कुरा कर टाल गए सवाल 

इसी क्रम में जेडीयू (JDU) की बैठक में शामिल होने गुरुवार को पार्टी कार्यालय पहुंचे सांसद ललन सिंह (Lalan Singh) ने मीडिया के जरिए तेजस्वी और चिराग पासवान को बधाई दी है. दरअसल, हाल ही में चिराग पासवान तेजस्वी से मिलने उनके आवास पहुंचे थे. चिराग ने इस मुलाकात के संबंध में कहा था कि वे पिता राम विलास पासवान (Ram Vilas Paswan) की पहली बरसी में तेजस्वी को आमंत्रित करने पहुँचे थे. हालांकि, दोनों युवा नेताओं की बढ़ती नजदीकियों के संबंध में जब जेडीयू सांसद ललन सिंह से सवाल पूछा गया तो उन्होंने मुस्कुराकर कहा ‘दोनों को बधाई’.

गौरतलब है कि जेडीयू पार्टी कार्यालय में गुरुवार को हुई बैठक में कई फैसले लिए गए हैं. ललन सिंह के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद ये पहली बैठक थी, जिसमें सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्ष शामिल हुए. बैठक के बाद जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह का बड़ा बयान सामने आया, जिसमें उन्होंने कहा कि पार्टी में किसी भी स्थिति में अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं कि जाएगी.

मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि बैठक में सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्षों की ओर से किये गए काम के बारे में बताया गया. इसके साथ ही ये फैसला लिया गया कि सभी प्रकोष्ठ मुख्य कमेटी के साथ मिलकर काम करेंगे, इस पर चर्चा हुई. पार्टी के जिलाध्यक्ष भी प्रकोष्ठ के सदस्यों और पदाधिकारियों के साथ मिलकर काम करेंगे. जिला प्रदेश और प्रखंड की यूनिट ही अब करेगी काम. लोकसभा और विधानसभा के प्रभारियों का पद अब खत्म किया गया है. अभी जो लोकसभा और विधानसभा प्रभारी हैं, उनको संगठन में समायोजित किया जाएगा. 

लोकसभा और विधानसभा प्रभारी नहीं होंगे

बैठक में पार्टी के पदाधिकारियों की राय के आधार पर फैसला लिया गया कि जेडीयू में लोकसभा और विधानसभा प्रभारी नहीं रहेंगे. ललन सिंह ने कहा कि प्रकोष्ठों की वजह से समानांतर संगठन बनता जा रहा था. अब सभी को जिला अध्यक्ष के साथ मिलकर काम करना होगा. अब हर जिले में दो-दो प्रभारियों की नियुक्ति की जाएगी. जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा की ओर से जिला प्रभारियों की नियुक्ति की गयी. प्रदेश स्तर के प्रभारियों को जिला का प्रभार दिया गया. वहीं, जेडीयू के प्रदेश मुख्यालय प्रभारी और पार्टी के महासचिव पद से अनिल कुमार और चंदन सिंह को हटा दिया गया. ग़ौरतलब है कि ये आरसीपी सिंह के करीबी माने जाते हैं.

यह भी पढ़ें –

‘तेजप्रताप डाउन टू अर्थ हैं, कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को RJD में लाउंगा’, चैतन्य पालित ने abp से किए कई खुलासे

Gopalganj News: गोपालगंज में बच्चों की कोरोना जांच कराने के लिए लग रही भीड़, वायरल फीवर ने बढ़ाई चिंता

Source link ABP Hindi